“नीतीश कुमार और सुशील मोदी बिहार के लिए विशेष राज्य का दर्जा डोनाल्ड ट्रम्प से मांग रहे है क्या?”

“नीतीश कुमार और सुशील मोदी बिहार के लिए विशेष राज्य का दर्जा डोनाल्ड ट्रम्प से मांग रहे है क्या?”

राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के नेता और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जोरदार हमला बोला है। सीएम नीतीश कुमार द्वारा विशेष राज्य की मांग किये जाने पर तेजस्वी यादव ने बड़ा हमला किया और कहा कि ‘क्या नीतीश कुमार और सुशील मोदी बिहार के लिए विशेष राज्य का दर्जा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से माँग रहे है क्या?’

दरअसल, कभी नीतीश सरकार में उपमुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल चुके तेजस्वी यादव ने बुधवार(30 मई) को ट्वीट करते हुए लिखा, “नीतीश कुमार और सुशील मोदी बिहार के लिए विशेष राज्य का दर्जा डोनाल्ड ट्रम्प से माँग रहे है क्या? जनता को बेवक़ूफ़ समझा है क्या? सीधे मोदी जी को कहने में डर लगता है क्या? नीतीश चाचा, चंद्रबाबु नायडू जी की तरह रीढ़ की हड्डी सीधी रख बतियाईयें। बिहार का हक़ माँग रहे है कौनो भीख नहीं।”

 

वहीं, तेजस्वी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा “नीतीश कुमार,रामबिलास पासवान और सुशील मोदी बिहार के लिए विशेष राज्य का दर्जा विपक्ष से माँग रहे है या फिर किसी अदृश्य भूत-प्रेत से.. केंद्र और राज्य मे आपकी सरकार है। फिर ये मांगने की नौटंकी, किससे? जनादेश चोरी करने के बाद भी ये अवसरवादी लोग विकास नहीं करने के बहाने ढूँढ रहे है।”

वहीं, उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा था कि, “प्यारे चाचा, वित्त आयोग को काहे इंडिरेक्ट्ली कह रहे है? प्रधानमंत्री जी ने भरी-दुपहरी में भरी सभा में बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा और दावा किया था। क्या आप नहीं जानते? सीधे उनको लिखिये, उनके भाषण सुनाइये जैसे आप 15 लाख काले धन वाला चलाते थे। पब्लिक है सब जानती है।”

बता दें कि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी पुरानी मांग को दोबारा उठाते हुए केंद्र सरकार से तत्काल इस दिशा में पहल करने का आग्रह किया। नीतीश कुमार ने मंगलवार को ब्लॉग लिखकर बिहार को किन कारणों से स्पेशल स्टेटस दिया जाना चाहिए इस बारे में विस्तार से लिखा है। इसकी जानकारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दी है, उन्होंने वित्त आयोग को लिखा हुआ पत्र भी साझा किया है।

नीतीश ने बिहार को स्पेशल स्टेटस देने का मुद्दा ठीक ऐसे समय उठाया है जब उन्होंने कुछ दिन पहले बिहार को बाढ़ राहत पर मिलने वाले केंद्रीय सहायता में कटौती पर एतराज जताया था और नोटबंदी के अपेक्षित परिणाम नहीं मिलने की बात कही थी।

 

Courtesy: .jantakareporter

Categories: International