गिरिराज सिंह की विवादित टिप्पणी, अब विपक्षी दलों को बताया ‘ओसामावादी’

गिरिराज सिंह की विवादित टिप्पणी, अब विपक्षी दलों को बताया ‘ओसामावादी’

एकजुट हो रहे सियासी दलों पर भाजपा के हमले लगातार तेज हो रहे हैं। सत्ताधारी भाजपा के खिलाफ विपक्ष की कई पार्टियां महागठबंधन बनाने की कोशिशों में हैं।  इस बीच सोमवार को केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विपक्षी दलों की तुलना अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी ओसामा बिन लादेन से कर दी। इससे पहले भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने पाकिस्तान के आतंकवादी हाफिज सईद से महागठबंधन की तुलना की थी।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया, “माओवादी, जातिवादी, सामंतवादी और ओसामावादी सभी राष्ट्रवादी गठबंधन (NDA) के खिलाफ एकजुट हो गए हैं। लेकिन विकास की अविरल गंगा में बहते हुए NDA की नाव नियत गति से 2019 का पड़ाव अवश्य पार करेगी।”

अमूमन विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहने वाले गिरिराज सिंह के इस बयान पर नया विवाद छिड़ सकता है। विपक्ष को ओसामावादी करार दिए जाने पर कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल भाजपा पर पलटवार सकते हैं।

इससे पहले भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने हाफिज सईद के भाषण का एक वीडियो ट्विटर पर साझा किया था। जिसमें वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रोकने की बात कर रहा है। इस वीडियो को पोस्ट करते हुए संबित ने लिखा, “इसमें कोई नई बात नहीं है कि महागठबंधन 2019 में मोदी को प्रधानमंत्री बनने से रोकना चाहता है, ऐसे कई अन्य लोग भी हैं जो यही चाहते हैं। हाफिज सईद खुलेआम नरेंद्र मोदी का खून बहाने की बात कर रहा है।”

गौरतलब है कि 14 सीटों पर हुए उपचुनावों के नतीजों में भाजपा को विपक्षी एकता ने तगड़ा झटका दिया है। कैराना और नूरपुर सीट पर बड़ी हार के साथ-साथ भाजपा की कई सीटों पर विपक्षी दलों ने उसे बेदखल कर दिया है। कर्नाटक में भी विपक्षी एकजुटता के कारण भाजपा की सरकार ढाई दिनों में गिर गई। ऐसे में महागठबंधन 2019 के चुनाव में भाजपा के लिए बड़ी चुनौती साबित हो सकता है।

 

Courtesy: outlook

Categories: India

Related Articles