दो तस्वीर : 4 साल बाद अमित शाह ‘माधुरी’ से समर्थन मांग रहे हैं, राहुल गांधी रोते किसान के आँसू पोंछ रहे हैं

दो तस्वीर : 4 साल बाद अमित शाह ‘माधुरी’ से समर्थन मांग रहे हैं, राहुल गांधी रोते किसान के आँसू पोंछ रहे हैं

भारतीय राजनीति की आज दो तस्वीरें निकलकर सामने आई। एक बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की और दूसरी विपक्ष में बैठे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की। दोनों ही नेता अपनी पार्टी के कप्तान माने जाते है। मगर इन दो तस्वीरों में दो अलग अलग मतलब निकाले जा सकते है।

एक तस्वीर ऐसी जब अमित शाह अपने चुनावी दौरे पर है और नेता से अभिनेता तक से संपर्क फॉर समर्थन कर रहे है वही दूसरी तरफ राहुल गांधी मंदसौर में किसानों के आसूं पूछते नज़र आ रहे है।

दरअसल दोनों ही भारतीय राजनीति के दो सबसे बड़े नेता दो अलग अलग प्रदेशों के दौरे पर थे। जिनमें बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह मोदी सरकार के चार सालों के कामकाज को लेकर अभिनेत्री माधुरी दीक्षित मिले। वैसे जैसे दिल्ली में कपिल देव और अन्य लोगों से मिले थे

वही राहुल गांधी मध्यप्रदेश के मंदसौर में हुए गोलीकांड के एक साल पूरा होने पर किसानों से उनका हाल जानने पहुंचे थे। राहुल ने सोशल मीडिया पर लिखा- मंदसौर गोलीकांड के एक साल बाद भी जाँच आयोग की रिपोर्ट नहीं आई है।

शहीद किसानों के परिवार न्याय का इंतज़ार कर रहे हैं। अपने परिजनों को खोने का दर्द मैं जानता हूँ। आज पीड़ित परिवारों के साथ कुछ पल बिताकर उनका दर्द बाँटने की कोशिश की।


मध्यप्रदेश में इसी साल के आखिर में चुनाव होने है राहुल भले ही किसानों के कंधे पर चढ़ते हुए सत्ता हासिल करने की कोशिश कर रहे हो मगर बड़े कारोबारियों के हाथों में फसी देश की सियासत को एक बार फिर किसानों के बीच लाकर खड़ा कर दिया है।

वही अमित शाह सरकार का फीडबैक लेने डोर टू डोर समर्थन मांगने पहुँच रहे है। बीजेपी के लिए इस वक़्त बड़े चेहरे की दरकार है मगर मंदसौर में राहुल गांधी को देखने से लगता है कि कांग्रेस सभी चुनाव किसानों के ही चेहरे पर लड़ना चाहती है।

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles