RSS के मंच पर पूर्व राष्ट्रपति की पाठशाला, कांग्रेस ने कहा- आज RSS को ‘प्रणब दा’ ने आईना दिखा दिया

RSS के मंच पर पूर्व राष्ट्रपति की पाठशाला, कांग्रेस ने कहा- आज RSS को ‘प्रणब दा’ ने आईना दिखा दिया

आज पूरे देश की नज़र नागपुर स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय पर इसलिए रही क्योंकि वहां पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया। आरएसएस के मंच पर प्रणब का पहुंचना सबके लिए चौंकाने वाला था। मीडिया से लेकर सियासी गलियारों में कयास लगाए जा रहे थे कि इस मंच से प्रणब दा क्या बोलेंगे।

आख़िरकार वह घड़ी भी आ गई जब सारे कयासों पर पूर्ण विराम लग गया। प्रणब दा आरएसएस के मंच से  राष्ट्र, राष्ट्रवाद, देशभक्ति और विविधतता पर अपने विचार रखे। उन्होंने कहा, ‘मैं यहां पर राष्ट्र, राष्ट्रवाद और देशभक्ति समझाने आया हूं।

भारत दुनिया का पहला राज्य है और इसके संविधान में आस्था ही असली देशभक्ति है। उन्होंने कहा कि विविधतता हमारी सबसे बड़ी ताकत है। हम विविधता में एकता को देखते हैं। हमारी सबकी एक ही पहचान ‘भारतीयता’ है।’

पूर्व राष्ट्रपति के इस बयान की कांग्रेस ने तारीफ़ की है। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, “आज प्रणब मुखर्जी ने आरएसएस को उसी के मुख्यालय पर आईना दिखा दिया। उन्होंने आरएसएस के मंच पर विविधता और सहिष्णुता की बात की”।

बता दें कि इस कार्यक्रम में करीब 707 स्वयंसेवक वहां पर मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर संघ प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद रहे।

 

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles