पूर्व CID अधिकारी बोले- मोदी को धमकी वाली चिट्ठी हमदर्दी लूटने का तरीका मात्र है, दावे में कोई दम नहीं है

पूर्व CID अधिकारी बोले- मोदी को धमकी वाली चिट्ठी हमदर्दी लूटने का तरीका मात्र है, दावे में कोई दम नहीं है

प्रधानमंत्री मोदी को जान से मारने की धमकी पर शरद पवार ने अहम खुलासा किया है। पवार ने कहा कि मोदी सरकार ऐसा करके जनता की सहानुभूति कार्ड खेल रही है। उन्होंने ये बयान तब दिया जब पुणे पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनके पास से पीएम मोदी की हत्या के साजिश रचने वाले पत्र मिले है। ऐसे में पवार का ये बयान आना काफी दर्शाता है।

दरअसल शरद पवार ने पार्टी की 19वीं सालगिरह के मौके पर ‘हल्ला बोल’ रैली में कहा कि मैंने एक रिटायर सीआईडी अधिकारी से बात की। जिन्होंने मुझे बताया कि यदि इस तरह के पत्र आते हैं तो वह मीडिया में नहीं बल्कि सुरक्षा एजेंसियों के पास जाते हैं और जिसके बाद पर्याप्त सुरक्षा कदम उठाए जाते हैं। पूरे देश में भाजपा का ग्राफ लगातार नीचे गिरता जा रहा है।

एनसीपी प्रमुख ने कहा कि, हर किसी को मालूम है कि भीमा कोरेगांव हिंसा के पीछे कौन था लेकिन जिनका किसी से कोई संबंध नहीं है उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है। इसे शक्तियों का दुरुपयोग करना कहते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी को ये अंदाज़ा हो गया है कि वो लोगों का समर्थन खो रही है और इसलिए धमकी भरे पत्रों को प्रसारित कर रही है ताकि लोगों से सहानभूति मिलती रहे।

बता दें कि भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच के दौरान जब पुलिस ने रोना विल्सन, सोमा सेन, सुधीर धवले, सुरेंद्र गाडलिंग जैसे लोगों को गिरफ़्तार किया तब ये आरोप लगा कि वह असली गुनहगारों को छोड़ रही है लेकिन अचानक अब ये जांच प्रधानमंत्री की हत्या की साज़िश की ओर मुड़ चुकी है।

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles