13 दिन पहले जिस हाईवे के उद्घाटन में PM मोदी ने किया था रोड शो, उसमें पहली बारिश में ही पड़ी दरार

13 दिन पहले जिस हाईवे के उद्घाटन में PM मोदी ने किया था रोड शो, उसमें पहली बारिश में ही पड़ी दरार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटित केजीपी ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे में दरार पड़ने की खबर आई है। बताया जा रहा है कि पबसरा गांव में टोल प्लाजा के पास मिट्टी खिसकने से हाईवे में दरार पड़ गई। इस हाईवे को बनाने में 5764 करोड़ रुपये की लागत आई थी।

खबरों के मुताबिक, पहली बारिश में ही हाईवे में सिर्फ दरार ही नहीं आई, बल्कि एनएचएआई की देश की पहली डिजिटल आर्ट गैलरी भी तालाब बन गई है। गैलरी में दो फुट तक पानी भरने से उपकरण खराब हो गए हैं। एनएचएआई के अफसरों ने इसपर सफाई देते हुए कहा है कि जल निकासी के लिए 20 मीटर जमीन नहीं मिलने से नाला नहीं बन पाया जिससे जल निकासी न होने के कारण इसमें पानी भरा है।

आर्ट गैलरी को केजीपी पर टोल प्लाजा के नीचे बनाया गया है। पानी भरने से आर्ट गैलरी बंद हो गई है और आर्ट गैलरी की दीवारों में दरार तक आ गई है। कई जगहों से गैलरी की टाइल्स भी उखड़ गई है।

ग़ौरतलब है कि हाल ही में खबर आई थी कि 135 किमी लंबे बने इस एक्सप्रेसवे को एनएचएआई ने आधी-अधूरी तैयारियों के साथ चालू कर दिया है। एक्सप्रेसवे पर न तो सुरक्षा के इंतजाम हैं और न ही कोई सुविधा है। मुसीबत में मदद भी बहुत देर से मिलती है। एनएचएआई ने सिर्फ रोड बनाकर इसे वाहनों के लिए खोल दिया है।

एनएचएआई के परियोजना निदेशक आशीष कुमार जैन कहते हैं कि जिस तरह से जल्दी में केजीपी का उद्घाटन किया गया है। ऐसे में सड़क का कई जगह से अस्थायी रूप से सामान्य सीमेंट से निर्माण कर दिया गया था। जिस जगह दरार आई है, वह उसी तरह अस्थायी हिस्सा है। उसके बारे में जानकारी मिल चुकी है और इसकी स्थायी व्यवस्था की जा रही है।

बता दें कि दिल्ली को ट्रैफिक समस्या से निजात दिलाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को दिल्ली के बाहर रिंग रोड बनाने का आदेश दिया था। इसी आदेश का पालन करते हुए ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे का निर्माण शुरु किया गया, जिसका 27 मई को पीएम मोदी ने उद्घाटन किया था।

 

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles