धूल भरी आंधी के कारण फिर ‘जहरीली’ हुई दिल्ली-एनसीआर की हवा

धूल भरी आंधी के कारण फिर ‘जहरीली’ हुई दिल्ली-एनसीआर की हवा

पिछले कुछ दिनों से पश्चिम भारत में धूल भरी आंधी के कारण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में एक बार फिर प्रदूषण बढ़ गया है। दिल्ली में आज वायु की गुणवत्ता ‘गंभीर’ स्तर से अधिक बिगड़ गया। आंधी के कारण हवा में मोटे कणों की बढ़ोतरी हुई है।

समाचार एजेंसी भाषा की ख़बर के मुताबिक, यह जानकारी केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़े पर आधारित है। सीपीसीबी के आंकड़े के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर इलाके में पीएम 10 (10 मिमी से कम व्यास वाले कण) का स्तर 778 पर ‘अत्यंत गंभीर’ से ऊवा है और दिल्ली में यह विशेषकर 824 पर है। इसके कारण धुंध की स्थिति है जिससे दृश्यता का स्तर सीमित है।

केन्द्र सरकार द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च इंस्टीच्यूट के एक वैज्ञानिक गुफ्रा न बेग ने बताया कि धूल भरी आंधी ने दिल्ली-एनसीआर में वायु की गुणवत्ता बिगाड़ दिया है। उन्होंने बताया , ‘देश के पश्चिमी हिस्से में धूल भरी आंधी से हवा में भारी पैमाने पर मोटे कणों की बढ़ोतरी हुयी है जिसके कारण दिल्ली में प्रदूषण के स्तर में उछाल आया है।’

 

उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में हवा की गुणवत्ता में सुधार होगा। बेग ने बताया, ‘तेज रफ्तार (30 से 40 किलोमीटर प्रति धंटा) में चलने वाली आंधी के साथ इस तरह की धूल भरी आंधी काफी देर तक नहीं रहेगी क्योंकि आज शाम तक वायु की गुणवत्ता सामान्य स्तर पर लौट आएगी।’

सीपीसीबी के मुताबिक, दिल्ली में कई जगहों पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 500 स्तर को पार कर गया है। पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार इलाके में 891 एक्यूआई दर्ज किया गया।

 

Courtesy: jantakareporter.

Categories: India

Related Articles

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*