अर्थशास्त्री अरविंद सुब्रमण्यन ने भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) के पद से इस्तीफा दिया

अर्थशास्त्री अरविंद सुब्रमण्यन ने भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) के पद से इस्तीफा दिया

अर्थशास्त्री अरविंद सुब्रमण्यन ने भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) के पद से इस्तीफा दे दिया है. बुधवार को अपने इस फैसले की पुष्टि करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि वे आगे भी देश की सेवा के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे. इससे पहल वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फेसबुक के जरिये अरविंद सुब्रमण्यन का धन्यवाद करते हुए उनके इस्तीफे की जानकारी दी थी. जेटली के मुताबिक सुब्रमण्यन ने बहुत महत्वपूर्ण निजी कारणों के चलते सीईए पद छोड़कर अमेरिका लौटने का फैसला किया है. अरुण जेटली ने फेसबुक पोस्ट में लिखा, ‘उन्होंने (अरविंद सुब्रमण्यन) इसके अलावा मेरे पास कोई और विकल्प नहीं छोड़ा कि मैं उनके इस्तीफे पर सहमति दूं.’

अरविंद सुब्रमण्यन 16 अक्टूबर, 2014 को मुख्य आर्थिक सलाहकार बने थे. उस समय उन्होंने तीन साल के लिए यह पद ग्रहण किया था. बाद में उनका कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ा दिया गया था. वित्त मंत्री के मुताबिक उन्होंने ही सुब्रमण्यन से उनका कार्यकाल बढ़ाने की अपील की थी. पोस्ट में जेटली ने लिखा है, ‘तीन साल पूरे होने पर मैंने उनसे आग्रह किया था कि वे कुछ और समय तक सीईए बने रहें. उस समय भी उन्होंने मुझे बताया था कि वे इस पद और पारिवारिक जिम्मेदारियों के बीच बंट गए हैं.’

वित्त मंत्री ने भारतीय अर्थव्यवस्था में आर्थिक प्रबंधन के लिए सुब्रमण्यन का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ‘व्यक्तिगत रूप से मुझे उनके व्यक्तित्व, उनकी ऊर्जा, बौद्धिक क्षमता और विचारों की कमी महसूस होगी. मुझे यकीन है कि वे जहां भी होंगे वहां से अपनी सलाह या विश्लेषण देते रहेंगे.’

अरविंद सुब्रमण्यन दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से स्नातक हैं. वे भारतीय प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद के छात्र भी रह चुके हैं. देश के वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार बनने से पहले वे अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में अर्थशास्त्री भी रहे.

Categories: Finance