फीफा वर्ल्‍डकप 2018ः पुर्तगाल की जीत में हीरो बने रोनाल्डो

फीफा वर्ल्‍डकप 2018ः पुर्तगाल की जीत में हीरो बने रोनाल्डो

कप्तान और स्टार स्ट्राइकर क्रिस्टियानो रोनाल्डो के शानदार खेल की बदौलत पुर्तगाल ने बुधवार को फीफा वर्ल्‍डकप 2018 के ग्रुप बी मुकाबले में मोरक्को को 1-0 से पराजित कर दिया। उन्होंने लुज्निकी स्टेडियम में मैच शुरू होने के चौथे मिनट में ही गोलकर अपनी टीम को बढ़त दिला दी। यह बढ़त आखिर तक कायम रही।  इस गोल के साथ ही वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे ज्यादा 85 गोल करने वाले यूरोपीय खिलाड़ी बन गए। इससे पहले यह रिकॉर्ड हंगरी के लीजेंड फेरेक पुस्कस (84 गोल) के नाम था।

पुर्तगाल से मिली इस हार के साथ ही मोरक्को की टीम नॉकआउट की दौड़ से लगभग बाहर हो गई है। उसे ग्रुप बी के पहले मैच में ईरान से 1-0 हार का सामना करना पड़ा था।पुर्तगाल ने स्‍पेन के खिलाफ अपना पहला मैच 3-3 से ड्रॉ रखा था। रोनाल्‍डो ने टूर्नामेंट में पुर्तगाल की ओर से अब तक सारे गोल दागे हैं। स्‍पेन के खिलाफ मैच में भी उन्‍होंने हैट्रिक बनाई थी। रोनाल्डो को मैन ऑफ द मैच भी चुना गया।

चौथे ही मिनट में कॉर्नर से मिले गोल के अवसर का पुर्तगाल के रोनाल्डो ने पूरा फायदा उठाया। बर्नाडो सिल्वा ने कॉर्नर से गोल पास किया, जिसे रोनाल्डो ने हेडर से मोरक्को के गोल पोस्ट तक पहुंचाकर टीम का खाता खोला। इसके साथ रोनाल्डो विश्‍व स्तर पर सबसे अधिक गोल दागने वाले यूरोपीय खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुल 85 गोल किए हैं। यही नहीं, वह वर्ल्‍डकप चार या उससे अधिक गोल करने वाले दूसरे पुर्तगाली खिलाड़ी हैं। 1966 में युसेबियो ने नौ गोल दागे थे।

पुर्तगाल के सामने मोरक्को का डिफेंस काफी कमजोर था। आठवें मिनट में रोनाल्डो को एक और मौका मिला, लेकिन उनका शॉट गोल पोस्ट के बेहद करीब से होकर गुजर गया। मोरक्को को 10वें मिनट में कॉर्नर से गोल का अवसर मिला, लेकिन पुर्तगाली गोलकीपर रुइ पेट्रिको ने शानदार बचाव कर इसे विफल कर दिया।  10 मिनट में उसे तीन बार कॉर्नर से गोल दागने का अवसर मिला और उसके खिलाड़ी तीनों बार असफल रहे। पहले गोल के साथ बढ़त हासिल करने वाली पुर्तगाल कहीं न कहीं अपनी लय को खो रही थी। हालांकि, इस बीच 30वें मिनट में रोनाल्डो ने फ्री किक पर अच्‍छा प्रयास किया लेकिन मोरक्को ने इसे असफल कर दिया। पुर्तगाल ने पहले हाफ के समापन तक 1-0 की बढ़त बनाए रखी।

दूसरे हाफ की शुरुआत के बाद एक समय पर दो मिनट के भीतर मोरक्को के गोल के लिए दागे गए दो शॉट पर पुर्तगाल के गोलकीपर पेट्रिको ने बेहतरीन तरीके से बचाव किया। मोरक्को के कप्तान मेहदी बेनातिया और मिडफील्डर नौरेदिने अमराबत आगे बढ़ते हुए अपनी हर कोशिश कर रहे थे, लेकिन उन्हें अटैकिंग टीम से मदद नहीं मिल रही थी। मोरक्को को 78वें और 79वें मिनट में फ्री किक से गोल करने के दो अवसर मिले। पहले मौके पर कप्तान बेनातिया का हेडर गोल पोस्ट के बाहर से निकल गया, वहीं दूसरी कोशिश भी नाकाम हो गई। पुर्तगाल के डिफेंस पर मोरक्को का अटैक लगातार जारी था, लेकिन उसकी हर कोशिश नाकाम हो रही थी। मैच के निर्धारित समय की समाप्ति के बाद पांच मिनट के अतिरिक्त समय में 93वें मिनट में कप्तान बेनातिया को गोल करने का अवसर मिला था, लेकिन वह इसमें भी नाकाम रहे और इस कारण आखिरकार मोरक्को को पुर्तगाल से 0-1 से हार का सामना करना पड़ा।

मोरक्को को अपना आखिरी ग्रुप मैच स्पेन के खिलाफ खेलना है। पुर्तगाल ने इस मैच से तीन अंक हासिल किए हैं, लेकिन अंतिम-16 दौर में उसका प्रवेश ईरान के खिलाफ 25 जून को होने वाले आखिरी मुकाबले से तय होगा।

Courtesy: outlook

Categories: Sports

Related Articles