भाजपा की सरकार गिरी तो लग जाएगी सरकार गिरने की हैट्रिक, अब इस राज्य में भी मंडराया खतरा

भाजपा की सरकार गिरी तो लग जाएगी सरकार गिरने की हैट्रिक, अब इस राज्य में भी मंडराया खतरा

शिमला  भाजपा की कर्नाटक और जम्मू एंड कश्मीर में सरकार गिराने के बाद एक और जगह सरकार गिरने का खतरा मंडरा रहा है. शिमला नगर निगम में मेयर की कुर्सी की जंग छिड गयी है. शिमला में बीजेपी पार्षदों ने अपनी ही महापौर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया हैष पार्षदों ने शिमला मेयर के खिलाफ लॉबिंग शुरू कर दी है.भाजपा पार्षद इस संबंध में शिमला के विधायक और शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज से भी मिल चुके हैं.

भाजपा के कुछ पार्षद महापौर को हटाकर खुद मेयर की सीट तक पहुंचना चाहते हैं.दो-तीन पार्षद तो सरेआम मेयर को हटाने की मांग कर चुके हैं.यहां तक कि पानी की किल्लत के समय अपनी ही निगम के खिलाफ मोर्चा भी खोल चुके हैं, लेकिन ताजा पनपे हालात भाजपा के लिए खतरे का संकेत हैं. इस विवाद को लेकर जब मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से पूछा गया तो उन्होंने कहा की मुझे इसके बारे में मीडिया से पता चल रहा है अगर कोई छोटी-मोटी कोई नाराजगी है तो उसको हल कर लिया जायेगा.

उधर नगर निगम शिमला की मेयर कुसुम सदरेट का कहना है की उनके किसी के साथ भी कोई मतभेद नहीं हैं.भाजपा के पार्षदों की सहमती से ही वह शिमला की मेयर बनी थी बाकि संगठन पर उन्हें पूरा भरोसा है.जो भी जिम्मेदारी उनको दी जाएगी उसके लिए वह तैयार हैं. बता दें कि नगर निगम शिमला में कुल 34 वार्ड हैं इनमें से 19 भाजपा के साथ, 14 कांग्रेस जबकि एक पार्षद सीपीआईएम का है.

ऐसे में भाजपा की बगावत की राह पार्टी को नुकसान पहुंचा सकती है.क्योंकि भाजपा के डिप्टी मेयर राकेश शर्मा भी निर्दलीय चुनाव लड़े थे और डिप्टी मेयर बनने की शर्त पर ही भाजपा में वापिस लौटे थे.जबकि एक पार्षद संजय परमार कांग्रेस से बगावत करके आए हैं. ऐसे में भाजपा के पार्षदों की मेयर के खिलाफ बगावत की खबरें पार्टी के ऊपर भारी पड़ सकती हैं.

Courtesy: nationalspeak

Categories: India
Tags: Amit Shah, BJP, Modi, PM

Related Articles