कश्मीर में बीजेपी नेता की पत्रकारों को धमकी, दिन-रात नफरत का DNA करने वाले पत्रकारों को बुरी क्यों नहीं लगती ?

कश्मीर में बीजेपी नेता की पत्रकारों को धमकी, दिन-रात नफरत का DNA करने वाले पत्रकारों को बुरी क्यों नहीं लगती ?

बीते 14 जून को कश्मीर के वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शुजात बुखारी राइजिंग कश्मीर अख़बार के संपादक थें। इस घटना ने घाटी समेत पूरे जम्मू-कश्मीर को हिला कर रख दिया।

लेकिन बीजेपी नेता अब भी पत्रकारों को ही घमकी दे रहे हैं। कश्मीर में तमाम चुनौतियों के बीच काम करने वाले पत्रकारों को बीजेपी नेता की घमकी निराश कर सकती है।

भाजपा नेता और BJP-PDP सरकार में मंत्री रहे चौधरी लाल सिंह ने ‘सलाह’ के रूप में धमकी देते हुए कहा है कि पत्रकार अपनी हद तय कर लें।

लाल सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों को ”सलाह’ देते हुए कहा ”अपने आप को संभाले और एक लाइन ड्रा करें ताकि ये भाईचारा बना रहे और तरक्की होती रहे।”

बीजेपी नेता के इस बयान पर टीवी मीडिया के बड़े एंकरों की जुबान भी बंद है। पत्रकारों को घमकी दी जा रही है लेकिन दिन-रात नफरत का DNA करने वाले पत्रकारों को बुरा नहीं लग रहा।

गोदी मीडिया और सत्ताधारी नेताओं के बीच ये कैसा रिश्ता बन गया है, जहां नेताओं की धमकी भी पत्रकारों को सुरीली संगीत लगने लगी है।

नफरत का DNA करने वाले पत्रकारों के चैनल, फेसबुक, ट्वीटर… कही पर भी चौधरी लाल सिंह के खिलाफ एक शब्द नहीं लिखा गया है। जबकि ये नेता पत्रकारों को खुलआम धमकी दे रहा है।

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles