मंदसौर में निर्भया कांड जैसी हैवानियत, आठ साल की मासूम से रेप, प्राइवेट पार्ट में डाला रॉड, आंतें आ गई बाहर

मंदसौर में निर्भया कांड जैसी हैवानियत, आठ साल की मासूम से रेप, प्राइवेट पार्ट में डाला रॉड, आंतें आ गई बाहर

मंदसौर में आठ साल की बच्ची से रेप के मामले में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वे कोशिश करेंगे कि आरोपी को मौत की सजा हो। एक बयान में शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “आरोपी पकड़े गये हैं और हमारी बेटी की हालत ठीक हो रही है, लेकिन आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा, पुलिस प्राथमिकता के आधार पर काम करेगी और कोशिश करेगी कि आरोपी को मौत की सजा हो, मैंने इस मामले में खुद बात की है, हाई कोर्ट के आदेश पर ऐसे मामलों के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन हुआ है, हम पूरी कोशिश करेंगे कि दोषी को मौत की सजा हो।”  उन्होंने कहा कि ऐसे हैवान धरती पर रहने के लायक नहीं हैं।

बता दें कि मध्य प्रदेश के मंदसौर में आठ साल की बच्ची के साथ रेप के मामले में हैवानियत की दिल दहला देने वाली कहानी सामने आई है। इस घटना की जांच जैसे जैसे आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे दिल्ली के निर्भया कांड की याद ताजा हो गई है। आरोपी इरफान ने न सिर्फ 8 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया, बल्कि इस मासूम के प्राइवेट पार्ट में रॉड या लकड़ी जैसी चीज डाल दी। आप इस वहशी की हैवानियत की सिर्फ कल्पना ही कर सकते हैं। नयी दुनिया अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक रॉड घुसेड़ देने की वजह से लड़की की आंतें बाहर आ गई थीं। इंदौर के एमवायएच अस्पताल के डॉक्टरों ने तीन घंटे तक लंबे और जटिल ऑपरेशन के बाद बच्ची की जान बचाई है।

एमवायएच के बाल शल्य चिकित्सा विभाग के प्रमुख ब्रजेश लाहोटी ने समाचार एजेंसी “भाषा” को बताया, “बच्ची की कल रात सर्जरी की गयी है. इसके बाद उसकी हालत खतरे से बाहर है।” लाहोटी ने धारदार हथियार से बलात्कारी हमलावर के वारों से बच्ची को आयी चोटों का हालांकि विशिष्ट ब्योरा नहीं दिया। लेकिन बताया कि ये घाव “गंभीर” हैं और इन्हें भरने में कुछ दिन लगेंगे। लाहोटी ने कहा, “विशेषज्ञ डॉक्टर बच्ची की सेहत पर लगातार नजर रख रहे हैं। उसकी हालत स्थिर बनी हुई है। उसकी सेहत में लगातार सुधार हो रहा है।’’ उन्होंने बताया कि एमवायएच में इलाज के दौरान बच्ची को खून भी चढ़ाया गया है। फिलहाल उसे ठोस आहार नहीं दिया जा रहा है। हालांकि, उसे पानी पिलाये जाने की इजाजत दी गयी है।

मंदसौर पुलिस के मुताबिक एक प्राइवेट स्कूल में तीसरी क्लास में पढ़ने वाली इस बच्ची की गुमशुदगी की शिकायत पुलिस को मिली थी। पुलिस को तलाशी के दौरान बुधवार 26 जून की शाम बच्ची शहर के बस स्टैंड के समीप लक्ष्मण दरवाजे के झाड़ियों में घायल अवस्था में मिली थी। बुधवार को ही उसे एमवायएच अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बच्ची मंगलवार शाम को स्कूल से छुट्टी के बाद लापता हो गयी थी। पुलिस के मुताबिक बलात्कार के बाद आरोपी इरफान उर्फ भय्यू खान पिता जहीर खान ने हत्या के इरादे से धारदार हथियार से उसे गंभीर चोटें पहुंचायी थीं। डॉक्टरों के मुताबिक बच्ची दहशत में है और वह किसी से बात नहीं कर रही है। नयी दुनिया अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची के निजी अंग खून से भर हुए थे, डॉक्टरों ने उसकी आंतों की भी सर्जरी की है।

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह संवाददाताओं को बताया कि 20 साल के आरोपी इरफान ने पूछताछ के दौरान आरोप कबूल कर लिया है। पूछताछ में इरफान ने अपना अपराध कबूल करते हुए बताया कि बच्ची का अपहरण और उसके साथ बलात्कार करने के बाद उसका गला रेत कर हत्या करने की भी कोशिश की। आरोपी के खिलाफ पहले से भी कई मामले दर्ज हैं। पुलिस के मुताबिक जिस स्कूल से बच्ची का अपहरण हुआ है उसके सीसीटीवी कैमरे बन्द पड़े थे। इस घटना के बाद सभी स्कूलों को सीसीटीवी कैमरे चालू रखने के सम्बंध में निर्देश दिया गया है। इस घटना के बाद शहर के लोगों में आक्रोश है। लोगों ने आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग करते हुए बाजार बंद रखे।

Categories: Crime

Related Articles