फुटबॉल विश्वकप : रूस और क्रोएशिया ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई

फुटबॉल विश्वकप : रूस और क्रोएशिया ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई

फुटबॉल विश्वकप- 2018 में रविवार को खेले गए नॉकआउट राउंड के पहले मुकाबले में बड़ा उलटफेर करते हुए रूस ने स्पेन को 4-3 से शिकस्त दी. पेनल्टी शूटआउट के जरिये मिली इस जीत के साथ रूस जहां फुटबॉल विश्वकप के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गया है तो वहीं स्पेन इस प्रतियोगिता से बाहर हो गया है.

लुज्नियाकी स्टेडियम में खेले गए इस रोमांचक मुकाबले में पहली बढ़त स्पेन ने बनाई. मैच के दसवें मिनट में रूसी खिलाड़ी के फाउल पर स्पेन को फ्री किक मिली. इस पर सर्जियो रैमोस ने शॉट लगाकर गेंद को गोल में पहुंचा दिया. सर्जियो रैमोस गोल की खुशी मना रहे थे तो इसी बीच टीवी रीप्ले से पता चला कि गेंद रूसी रक्षा पंक्ति के खिलाड़ी सरगेई इग्नासेविच के पैर को छूती हुई गोल पहुंची है. यानी यह आत्मघाती गोल था.

एक गोल से पिछड़ते रूस ने हालांकि पहले हाफ में ही बराबरी कर ली. मैच के 40वें मिनट में स्पेनिश खिलाड़ी के हाथ से गेंद छू जाने पर रूस को पेनल्टी मिली. इस पर आर्टम डिबुआ ने शानदार शॉट लगाकर गेंद सीधा गोल में पहुंचाकर मुकाबला 1-1 से बराबरी पर ला दिया. इन दोनों गोलों के बाद 90 मिनट के आधिकारिक समय तक कोई और गोल नहीं हो सका. मुकाबले के नतीजे के लिए दोनों टीमों को तीस मिनट का अतिरिक्त समय मिला और इस दौरान भी कोई और गोल नहीं देखने को मिला. इसके बाद पेनल्टी शूटआउट कराने का फैसला किया गया जिसमें रूस ने 4-3 से बाजी मार ली. शूटआउट के हीरो रूस के कप्तान व गोलकीपर एगोर एकीनीव बने जिन्होंने स्पेन के दो शॉट्स को रोककर अपनी टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाई.

रविवार को नॉकआउट राउंड का दूसरा मुकाबला क्रोएशिया और डेनमार्क के बीच खेला गया. आक्रामक अंदाज दिखाते हुए डेनमार्क ने पहले ही मिनट में क्रोएशिया पर गोल दागकर 1-0 की बढ़त बना ली. मथायस जर्गेनसन ने मैच के 57वें सेकंड में गोल दागा जो इस विश्व कप का सबसे तेज गोल बना. शुरुआती सेकेंडों में ही पिछड़ने के बावजूद क्रोएशिया ने हिम्मत बनाए रखी और तीसरे ही मिनट में मारियो मानड्जूकिक ने शानदार गोल करके मुकाबला 1-1 से बराबरी पर ला दिया.

इस तेज शुरुआत के बाद दर्शकों को उम्मीद थी कि मैच में कई और गोल देखने को मिलेंगे लेकिन ऐसा नहीं हो सका. पहले और दूसरे हाफ के दौरान दोनों टीमों को गोल करने के कई अवसर मिले पर इन्हें भुनाने में उन्हें कामयाबी नहीं मिली. आधिकारिक समय बीतने के बाद दोनों टीमों को अतिरिक्त समय दिया गया और इसमें भी कोई गोल न हो पाने से मुकाबला पेनल्टी शूटआउट पर पहुंचा.

पैनल्टी शूटआउट में दोनों गोलकीपरों की तरफ से शानदार बचाव देखने को मिला लेकिन इसमें कामयाबी क्रोएशिया के हाथ लगी जिसने 3-2 से मुकाबला अपने नाम किया. इस हार के साथ विश्वकप में डेनमार्क का अभियान खत्म हो गया. क्रोएशिया अब क्वार्टर फाइनल में रूस के साथ भिड़ेगा.

उधर, फ्रांस और उरुग्वे पहले ही क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह बना चुके हैं. सोमवार को विश्वकप के नॉकआउट राउंड के दो मुकाबले खेले जाएंगे. भारतीय समयानुसार शाम साढ़ेसात बजे ब्राजील की भिडंत मैक्सिको के साथ होती तो वहीं देर शाम साढ़े ग्यारह बजे बेल्जियम और जापान के बीच मुकाबला खेला जाएगा.

Categories: Sports