मोदीराज में बढ़ा कालाधन: स्विस बैंकों में ज्यादा धन जमा होने लगे, 88वें स्थान से 73वें पर पहुंचा भारत

मोदीराज में बढ़ा कालाधन: स्विस बैंकों में ज्यादा धन जमा होने लगे, 88वें स्थान से 73वें पर पहुंचा भारत

कालेधन को देश में वापस लाने के नाम पर सत्ता में आई भाजपा अब इस मुद्दे पर पूरी तरह बैकफुट पर है। स्विस नेशनल बैंक की आई रिपोर्ट के मुताबिक, बैंक में भारतीयों का पैसा बड़ा है और पैसा जमा करने वालों में भारतियों की रैंकिंग भी बढ़ गई है।

नोटबंदी जैसे कदम के बाद कालेधन में कमी का दावा करने वाली मोदी सरकार के लिए स्विस बैंक की ओर से जारी रिपोर्ट ने बड़ा झटका दिया है।

स्विस बैंकों में किसी देश के नागरिक और कंपनियों द्वारा धन जमा कराने के मामले में 2017 में भारत 73वें स्थान पर पहुंच गया। इस मामले में ब्रिटेन शीर्ष पर बना हुआ है। वर्ष 2016 में भारत का स्थान इस मामले में 88वां था।

डेटा के मुताबिक, भारतीयों द्वारा स्विस बैंकों में प्रत्यक्ष रूप से रखे जाने वाला धन 2017 में बढ़कर 6,891 करोड़ रुपये हो गया, जबकि फंड मैनेजर्स के माध्यम से रखे जाना वाला धन 112 करोड़ रुपये रहा।

ताजा आंकड़ों के मुताबिक, स्विस बैंकों में जमा भारतीयों के धन में 3,200 करोड़ रुपये का कस्टमर डिपॉजिट, 1,050 करोड़ रुपये दूसरे बैंकों के जरिए और 2,640 करोड़ रुपये अन्य लायबिलिटीज के रूप में शामिल थे।

गौरतलब है कि स्विट्जरलैंड के बैंकों में दुनियाभर के लोग अपना काला धन रखते रहे हैं, क्योंकि इन बैंकों में ग्राहकों की सूचनाओं को बेहद गोपनीय रखा जाता है।

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles