ग्रेटर नोएडा में दो इमारतें गिरने से अब तक 3 लोगों की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंका

ग्रेटर नोएडा में दो इमारतें गिरने से अब तक 3 लोगों की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंका

देश की राजधानी दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा वेस्ट के शाहबेरी में मंगलवार (17 जुलाई) रात एक चार मंजिला और एक छह मंजिला निर्माणाधीन इमारत गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई। हालांकि अभी मलबे में कई लोगों के फंसे होने की आशंका है। चार मंजिला इमारत में कुछ परिवार रह रहे थे, जबकि निर्माणाधीन इमारत में कई मजदूर मौजूद थे। हालांकि, अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि छह मंजिला इमारत में कितने लोग फंसे हो सकते हैं।

अधिकारियों ने बताया कि परिवारों को अभी इस इमारत में शिफ्ट नहीं किया गया था लेकिन कुछ दुकानें चलाई जा रही थी। एनडीआरएफ के अधिकारियों ने बताया कि नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (एनडीआरएफ) की चार टीमें और डॉग स्क्वायड मौके पर मौजूद है। एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडेंट आर.एस. कुशवाहा ने बताया कि छह मंजिला इमारत पिछली रात ढह गई। राहत और बचाव का कार्य जारी है। एनडीआरएफ की चार टीम इस वक्त मौके पर मौजूद है।

मेरठ रेंज के आईजी राम कुमार ने कहा, ‘मलबे को सावधानी के साथ उठाया जा रहा है, जिससे जो जीवित हैं, उन्हें निकाला जा सके। अभी तक 3 मजदूरों के शव मिले हैं। यह निर्माणाधीन बिल्डिंग है इसलिए फंसे हुए लोगों में भी ज्यादा संख्या मजदूरों के ही होने की संभावना है। स्थानीय लोगों से यही पता चला है कि कुछ मजदूर अपने परिवार के साथ निर्माणाधीन बिल्डिंग में रह रहे थे। अभी 24 घंटे तक और राहत और बचाव कार्य चल सकता है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।’

इमारत ढहने के मामले में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि गंगा सरन द्विवेदी के नाम पर जमीन थी, उसे भी गिरफ्तार किया गया है। कासिम नाम के बिल्डर ने बिल्डिंग बनाई थी, जो अभी भी फरार है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर संभव मदद मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं। गौतमबुद्ध नगर के सांसद और केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा भी घटनास्थल पर पहुंचे हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार की रात 9 बजे के करीब एक 6 मंजिला और एक 4 मंजिला इमारत ढह गई। पुराने टावर में कम से कम 10 परिवार रहते थे। घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, ‘एक बिल्डिंग बेहद जर्जर हालत में थी, जबकि दूसरी बिल्डिंग निर्माणाधीन थी।

‘डॉ. महेश शर्मा ने घटनास्थल पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया। महेश शर्मा ने कहा कि 12 एंम्बुलेंस यहां पहुंच गए हैं। आस पास के सभी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है। एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। इसके अलावा डॉग स्कवॉयड को भी बुलाया गया है।

Courtesy: jantakareporter

Categories: Regional

Related Articles