विकास का नाम सुनते ही लोगों ने खदेड़ दिया, मोदी को हेलीकॉप्टर से भागना पड़ा, देखें

विकास का नाम सुनते ही लोगों ने खदेड़ दिया, मोदी को हेलीकॉप्टर से भागना पड़ा, देखें

देश में बीजेपी जिस लहर के साथ सत्ता में आई थी, अब वह गायब होती जा रही है। अब लोगों में बीजेपी और पीएम मोदी के प्रति गुस्सा साफतौर पर नज़र आने लगा है। हर वर्ग के लोग मोदीराज में परेशान हैं। फिर चाहे वह महंगाई का मामला हो, बेरोज़गारी का मामला हो या फिर नोटबंदी और जीएसटी का। मोदी सरकार की जन विरोधी नीतियों का सच जनता के सामने पूरी तरह से आ चुका है।

1. तामिलनाडु में पीएम मोदी का विरोध

सोशल मीडिया पर आये दिन बीजेपी, पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ हैशटैग ट्रेंड हो रहे हैं। गौरतलब है कि अगले साल देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और जनता ने मोदी सरकार को अभी से नकारना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में तामिलनाडु पहुंचे पीएम मोदी का वहां की जनता ने जमकर विरोध किया।

2. मुंह छिपाकर हेलीकॉप्टर से जाने को मजबूर हुए मोदी

आपको बता दें कि जनता का विरोध इस स्तर पर हो रहा था कि पीएम मोदी को सड़क के जरिये लोगों के सामने ही नहीं लाया गया। बल्कि पीएम मोदी को मुंह छिपाकर हेलीकॉप्टर के जरिये ही वहां से निकलना पड़ा। दरअसल पीएम मोदी तमिलनाडु के थिरुविदंतई में डिफेंस एग्जीबिशन ‘द डिफेक्सपो’ का उद्घाटन करने पहुंचे थे।

3. हवा में उड़ाए मोदी-गो बैक लिखे गुब्बारे

लेकिन एयरपोर्ट पर हजारों लोग उन्हें काले झंडे दिखाने के लिए खड़े थे। दरअसल, कावेरी मैनेजमेंट बोर्ड के गठन में हो रही देरी के कारण तमिलनाडु की जनता ने पीएम मोदी के तमिलनाडु दौरे का विरोध किया। इस दौरान लोगों ने बड़े आकार के काले गुब्बारे पर मोदी-जो बैक लिखकर हवा में उड़ाए। लोगों का कहना था कि गर पीएम मोदी काले झंडे नहीं भी देख पाए तो हवा में उड़ते काले गुब्बारे तो जरूर देख लेंगे।

4. आईआईटी छात्रों ने भी किया विरोध


इस दौरान पीएम मोदी आईआईटी-मद्रास में मोदी के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया था। पीएम मोदी के दौरे के मद्देनज़र यहाँ अपर सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए थे। लेकिन इतने कड़े सुरक्षा इंतज़ाम के बावजूद भी आईआईटी के छात्रों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जोरदार विरोध किया। इन छात्रों के हाथों में मोदी के खिलाफ नारे लिखे हुए प्लेकार्ड पकड़े हुए थे।

निष्कर्ष: गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने साल 2014 में देश की जनता से कई वादे किए थे। जिन्हे न तो वह कभी पूरा कर पाए और न ही जनता की मुसीबतों को हल कर पाए। इसकी बदौलत अब जनता मोदी के विरोध में खुलकर सामने आ गई है।

Courtesy: openkhabar

Categories: India

Related Articles