मुंबई बंद LIVE: हिंसक हुआ मराठा आरक्षण आंदोलन, बसों में तोड़फोड़, ट्रेनें रोकीं, गाड़ियों को किया आग के हवाले

मुंबई बंद LIVE: हिंसक हुआ मराठा आरक्षण आंदोलन, बसों में तोड़फोड़, ट्रेनें रोकीं, गाड़ियों को किया आग के हवाले

आरक्षण की मांग को लेकर मराठा आंदोलन ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है। मराठा मोर्चा ने बुधवार (25 जुलाई) को मुंबई बंद बुलाया है। महाराष्ट्र में मराठा क्रांति मोर्चा की तरफ से मराठा समुदाय के लोगों को नौकरी और शिक्षा में आरक्षण की मांग को लेकर बुलाए गए बंद की शुरुआत बुधवार को हिंसा, आगजनी और विरोध मार्च के साथ हुई। मराठा आरक्षण की मांग को लेकर महाराष्ट्र के कई हिस्सों में हिंसक प्रदर्शनों की आंच मुंबई, ठाणे, पालघर और रायगड में दिखने लगी है। इन इलाकों में बंद का ऐलान किया गया है।

बंद का सबसे अधिक असर ठाणे में देखने को मिल रहा है जहां बसों में तोड़फोड़ की गई और स्टेशन पर लोकल ट्रेन रोकी गई। बंद के दौरान मराठा मोर्चा ने मुंबई की ओर जानेवाली ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे को जाम कर दिया। हालांकि 20 मिनट बाद आंदोलनकारी हाइवे से हट गए। कार्यकर्ताओं की तरफ से मुंबई में कई जगहों पर निकाले गए मार्च के चलते सड़क यातायात मुंबई, ठाणे, नवीं मुंबई और महाराष्ट्र के कई जगहों पर बुधवार की सुबह बंद रहे।

ठाणे में कार्यकर्ताओं ने जबरदस्ती दुकानें बंद करवाईं। हालांकि, बांद्रा में मराठा क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों से हाथ जोड़कर बंद का पालन करते हुए दुकानें बंद करने की गुजारिश की। मराठा मोर्चा ने ऐलान किया है कि बंद के दौरान सड़कों पर साइकिल भी नहीं चलने देंगे। उनका कहना है कि बंद के दौरान किसी भी प्रकार की हिंसा नहीं होगी, ये बंद पूरी तरह से शांतिपूर्ण होगा।

  • हिंसक हो रहा है मराठा आरक्षण आंदोलन, कई जगहो पर हुई आगजनी, सायन-पनवेल हाइवे पर गाड़ियों को किया आग के हवाले
  • औरंगाबाद में किसान जगन्नाथ सोनावने ने आरक्षण की मांग को लेकर जहर खा लिया है। उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती किया गया, लेकिन उसकी मौत हो गई।
  • मुंबई और ठाणे में लोकल ट्रेन सेवाओं को बाधित करने का प्रयास किया गया है लेकिन पुणे में फिलहाल इसका असर नहीं। पुणे रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया है कि सभी ट्रेनें समय पर चल रही हैं।
  • मराठा क्रांति मोर्चा के नेता ने कहा कि हम किसी रोड को ब्लॉक नहीं कर रहे हैं। हम एक शांतिपूर्ण विरोध कर रहे हैं और हमने अपने कार्यकर्ताओं को कहा है कि हमारे विरोध के कारण किसी को असुविधा न हो।

एक पुलिसकर्मी की मौत

इससे पहले महाराष्ट्र में आरक्षण की मांग को लेकर जारी मराठा आंदोलन मंगलवार को हिंसक हो गया। इसमें एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। मराठा क्रांति मोर्चा के आह्वान पर राज्यव्यापी प्रदर्शन के दौरान कई जगह तोड़फोड़ और आगजनी हुई। बुधवार को भी ठाणे, नवी मुंबई, रायगढ़ में बंद का आह्वान किया गया है। औरंगाबाद के 27 वर्षीय युवक काकासाहेब दत्तात्रेय शिंदे ने सोमवार को नदी में छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली थी। इसके बाद से आंदोलन उग्र हो गया और मराठा क्रांति मोर्चा ने मंगलवार को महाराष्ट्र बंद का आह्वान किया।

शिंदे के गांव कायगांव में प्रदर्शन के दौरान कांस्टेबल शाम अतगांवकर की मौत हो गई। जबकि एक सिपाही घायल है। औरंगाबाद, परभणी, उस्मानाबाद और अहमदनगर सहित विभिन्न जिलों में प्रदर्शन के दौरान औरंगाबाद पुणे और औरंगाबाद-अहमदनगर समेत कई मार्ग बंद कर दिए गए। औरंगाबाद में फायर ब्रिगेड वाहन में आग लगा दी गई। इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा में कहा है कि यदि बंबई हाई कोर्ट मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की अनुमति देता है तो प्रदेश में रिक्त 72 हजार पदों को भरते वक्त 16 प्रतिशत पद समुदाय के लोगों के लिए आरक्षित किए जाएंगे। लेकिन 72 हजार सरकारी नौकरियों की भर्ती में मराठों के लिए 16 प्रतिशत पद आरक्षित रखने का फडणवीस का फैसला इस आग को ठंडा करने के बजाय और भड़का रहा है।

 

Courtesy: jantakareporter

Categories: India

Related Articles