सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर ताजमहल की देखरेख पर योगी सरकार को लगाई फटकार, कहा- तमाशा बना दिया है

सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर ताजमहल की देखरेख पर योगी सरकार को लगाई फटकार, कहा- तमाशा बना दिया है

ताजमहल की देखभाल को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर योगी सरकार को फटकार लगाई है। इससे पहले कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए ताजमहल की देखभाल पर विजन डॉक्युमेंट पेश करने को कहा था।

योगी सरकार ने जब इसे लेकर पहला ड्राफ्ट कोर्ट में पेश किया तो कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि क्या यहां तमाशा हो रहा है? कोर्ट ने पूछा कि इतने समय में भी आप ड्राफ्ट पेश कर रहे हैं, क्या इसमें फिर से संशोधन करेंगे?

दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पेश हुए आगरा के डीएम को जमकर फटकार लगाई। कोर्ट ने डीएम से कहा कि यहां तमाशा हो रहा या मजाक चल रहा है। कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार से पूछा कि कोर्ट को सोमवार तक बताया जाए कि ताज की सुरक्षा के लिए कौन ज़िम्मेदार है।

जस्टिस लोकुर ने कहा कि एक अथॉरिटी होनी चाहिए जो ज़िम्मेदारी ले सके मगर ऐसा लग रहा है जैसे अथॉरिटी ने ताज से हाथ धो लिया है। हम ऐसी स्थिति में है कि हमने एक विजन डॉक्यूमेंट तैयार किया जिसमें एएसआई की कोई हिस्सेदारी नहीं है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने ताजमहल की देखभाल को लेकर केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की योगी सरकार को फटकार लगाई थी। कोर्ट ने योगी सरकार की लापरवाही पर सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर राज्य सरकार ताजमहल की देखभाल नहीं कर सकती तो उसे बंद करे या तोड़ दें।

जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने मामले की सुनवाई करते हुए ताजमहल पर संसद की स्थायी समिति की रिपोर्ट के बाद भी योगी सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाये है।

 

Courtesy: Boltaup

Categories: Politics

Related Articles