उत्तर प्रदेश: देवरिया में भी सामने आया मुजफ्फरपुर जैसा घिनौना कांड, बालिका गृह से गायब मिली 18 लड़कियां

उत्तर प्रदेश: देवरिया में भी सामने आया मुजफ्फरपुर जैसा घिनौना कांड, बालिका गृह से गायब मिली 18 लड़कियां

बिहार के मुजफ्फरपुर के ‘बालिका गृह’ नाम के नारी निकेतन में 34 मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ की उत्तर प्रदेश के देवरिया में भी ऐसा ही मामला सामने आया है। देवरिया के नारी संरक्षण गृह में भी देह व्यापार (सेक्स रैकेट) का खुलासा हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार रात यह मामला तब उजागर हुआ, जब इस बालिका गृह से भागकर एक बच्ची ने महिला थाने जाकर पुलिस से गुहार लगाई। लड़की की शिकायत पर पुलिस ने छापा मारकर बालिका गृह से 24 बच्चियों और लड़कियों को मुक्त कराते हुए उसे सील कर दिया गया।

जबकि बालिका गृह से 18 लड़कियां अभी भी गायब बताई जा रही हैं, जिनके बारे में पुलिस पता लगा रही है। मामले में पुलिस ने बालिका गृह के संचालिका गिरिजा त्रिपाठी, उनके पति मोहन तिवारी और बेटी को गिरफ्तार किया है।

 

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, एसपी रोहन पी कनय ने बताया कि थाने पहुंची एक बच्ची ने बताया कि रोज शाम चार बजे बड़ी-बड़ी गाड़ियों में लोग आते थे और 15 साल के ऊपर की लड़कियों को ले जाते थे। सुबह जब लड़कियां आती थीं तो वे कुछ नहीं बोलती थीं, बस वे रो रही होती थीं। इसके अलावा उन्हें दूसरे को घरों में झाड़ू पोछा जैसे तमाम घरेलू कामों के लिए भी भेजा जाता था।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक, देर रात पुलिस लाइन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक रोहन पी. कनय ने बताया कि वहां के बच्चों से बातचीत हुई है। उन्होंने संस्था में रह रही 15 से 18 वर्ष की लड़कियों से अवैध कृत्य कराने की बात कही है।

संस्था को सील कराते हुए वहां की अधीक्षका कंचनलता, संचालिका गिरिजा त्रिपाठी, मोहन त्रिपाठी को गिरफ्तार कर लिया गया है। अभी 18 बच्चे व लड़कियां गायब हैं। इसकी जांच के लिए सीओ सिटी व जिला प्रोवेशन अधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

 

Courtesy: jantakareporter.

Categories: India

Related Articles