लाइव डिबेट में पात्रा को सुननी पड़ीं खरी – खरी, पेनेलिस्ट ने कहा ‘संबित पात्रा के बाप-दादा भी घुसपैठिए थे’

लाइव डिबेट में पात्रा को सुननी पड़ीं खरी – खरी, पेनेलिस्ट ने कहा ‘संबित पात्रा के बाप-दादा भी घुसपैठिए थे’

नई दिल्ली –  असम के NRC विवाद पर समाचार चेनलों पर डिबेट जारी है। इस डिबेट में खूब विवाद भी हो रहा है। न्यूज़ एंकर एनआरसी की लिस्ट में शामिल न हुए लोगों को घुसपैठिया बताते हैं, जबकि इस लिस्ट में भाजपा विधायक का नाम भी नही है।

इसी मुद्दे पर समाचार चेनल न्यूज 18 इंडिया बहस के दौरान जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के सदस्य जुड़े इलियास शराफुद्दीन एनआरसी ड्राफ्ट पर सवाल उठाए और इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि भारत का दिल बहुत बड़ा है, यहां पर जो भी लोग बाहर से आए उन्हें जगह दी गई।

उन्होंने डिबेट में मौजूद भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि, “भारत का दिल इतना बड़ा है कि चार हजार साल पहले संबित पात्रा के पूर्वज बाहर से आए थे उनको भी, घुसपैठियों को रख लिया यहां, उसके बाद तिब्बती आए, वो घुसपैठियों को रख लिया यहां, उसके बाद भारत में पाकिस्तान के हिन्दू आए उन घुसपैठियों को भी राजस्थान में रख लिया, अब चंद मुसलमान आए, तो इतना बड़ा बावेला मचा दे रही है बीजेपी-आरएसएस।”

इलियास के बयान पर एंकर ने आपत्ति जताई, लेकिन इसके बावजूद वे बोलते रहे उन्होंने कहा, “जब आप सबको सहन कर रहे हैं, तो थोड़े मुसलमानों को भी सह लो।” इस पर एंकर ने उन्हें जवाब देते हुए कहा कि क्या ये देश धर्मशाला है। जिस पर इलियास ने जवाब दिया, “धर्मशाला नहीं, हिन्दुस्तान का इतना बड़ा दिल है कि सबको बर्दाश्त कर रहा है, क्या ब्रह्माणों के लिए धर्मशाला नहीं थी, जब संबित पात्रा के पूर्वज आए थे यहां तो धर्मशाला नहीं थी। इलियास शराफुद्दीन ने कहा कि आर्यन का भारत में आना दुःख की बात है, ब्रह्माण आर्यन हैं और देश में आग लगा रहे हैं संबित पात्रा जैसे लोग।

उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि मुसीबत में जो भी भारत में आया है उन्हें भारत में जगह मिलनी चाहिए। इलियास ने कहा, “कोई भी परेशानी में भारत आया, चाहे वो किसी भी मज्हब का हो, तो भारत ने उसे अपनी गोद में बैठा लिया, संबित पात्रा के बाप-दादा आए तो बिठा लिया, तिब्बती आए तो बिठा लिया, तो चंद मुसलमान आए तो प्रॉब्लम क्या है।

Courtesy: nationalspeak.

Categories: India

Related Articles