मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में 34 लड़कियों से रेप मामले में चौतरफा दबाव के बाद नीतीश की मंत्री मंजू वर्मा का इस्तीफा

मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में 34 लड़कियों से रेप मामले में चौतरफा दबाव के बाद नीतीश की मंत्री मंजू वर्मा का इस्तीफा

बिहार के मुजफ्फरपुर के ‘बालिका गृह’ नाम के नारी निकेतन में 34 मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी के मामले ने तूफान मचा दिया है। इस मामले में विपक्ष के बढ़ते दबाव के बीच बिहार सरकार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने बुधवार (8 अगस्त) को इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि विपक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मंजू वर्मा को बर्खास्त करने की मांग की थी।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मुजफ्फपुर शेल्टर होम रेप केस की जांच पूरी तरह से अपने हाथ में ले ली है। मीडिया रिपोर्ट में ऐसे अंदेशा जताया जा रहा है कि इसकी आंच मंजू वर्मा के पति चंद्रेश्वर वर्मा तक भी पहुंच सकती है। चंद्रेश्वर वर्मा पर इस मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ कथित संबंध होने के आरोप हैं।

बता दें कि इससे विपक्षी दलों द्वारा नीतीश की चुप्पी पर बार-बार सवाल उठाए जाने के बाद शुक्रवार (3 अगस्त) को बिहार के मुख्यमंत्री का बयान सामने आया था। नीतीश ने कहा, ‘मुजफ्फरपुर में ऐसी घटना घट गई कि हम शर्मसार हो गए। सीबीआई जांच कर रही है। हाई कोर्ट इसकी मॉनिटरिंग करे।’

बिहार सीएम ने आश्वस्त किया है कि इस मामले में किसी के साथ कोई ढिलाई नहीं बरती जाएगी और जो भी दोषी पाया जाएगा उसे कड़ी सजा मिलेगी। बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका कांड में 44 बच्चियों में से 34 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि हो गई है। मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड का मामला बिहार विधानसभा से लेकर देश की संसद तक में उठाया गया है।

 

दोनों मंत्रियों ने आरोपों को किया था खारिज

बता दें कि बालिका आश्रय गृह में 29 बच्चियों से रेप मामले में लग रहे आरोपों को बिहार के दोनों मंत्रियों ने आधारहीन बताते हुए खारिज कर दिया था। समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा और नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने कहा था कि अगर आरोप सिद्ध हुए तो वे मंत्रीपद से इस्तीफा दे देंगे। समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने पत्रकार वार्ता में अपने पति चंद्रशेखर वर्मा पर मुजफ्फरपुर बालिका गृह के सीपीओ रवि कुमार रौशन की पत्नी के आरोपों का खंडन किया था।

मंजू ने आरोप लगाया कि वह पिछड़ी और कमजोर जाति (कुशवाहा समुदाय) से हैं इसलिए उनके पति को मोहरा बनाया गया है। बता दें कि जेल में बंद सीपीओ रवि की पत्नी ने मंजू वर्मा के पति पर बालिका गृह में अपने साथ जाने वाले अधिकारियों को बाहर छोड़कर उसके भीतर जाने का आरोप लगाते हुए बताया था कि वहां की लडकियां उन्हें नेता जी के तौर जानती थीं। विपक्ष ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मंजू वर्मा को बर्खास्त करने की मांग की थी।

 

Courtesy: jantakareporter

Categories: Crime