VIDEO: राफेल डील के खिलाफ संसद परिसर में कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों का प्रदर्शन, सोनिया गांधी भी प्रदर्शन में हुईं शामिल

VIDEO: राफेल डील के खिलाफ संसद परिसर में कांग्रेस समेत विपक्षी पार्टियों का प्रदर्शन, सोनिया गांधी भी प्रदर्शन में हुईं शामिल

जनता का रिपोर्टर’ द्वारा राफेल विमान सौदे को लेकर किए गए खुलासों के बाद कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियां विमान सौदे में कथित गड़बड़ी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हर रोज निशाना साध रही है। कांग्रेस राफेल का मुद्दा लगातार चर्चा में बनाए रखना चाहती है। इसी के तहत खुद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर राफेल विमान सौदे में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए रोजाना ट्वीट कर रहे हैं।

इस बीच राफेल डील के खिलाफ कांग्रेस का विरोध-प्रदर्शन जारी है। गुरुवार (10 अगस्त) को सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले संसद परिसर में कांग्रेस के सांसदों ने राफेल विमान सौदे के खिलाफ हाथ में तख्ती लेकर विरोध प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में कांग्रेस के अलावा सीपीआई, आरजेडी और आम आदमी पार्टी सहित अन्य पार्टियों के सांसद भी शामिल हुए।

इस प्रदर्शन में यूपीए चेयरमैन सोनिया गांधी भी शामिल हुईं। इसके अवाला शुक्रवार को राफेल डील का मुद्दा संसद में भी सुनाई दी। राज्यसभा  में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने राफेल डील को लेकर मोदी सरकार पर उठाए सवाल। कांग्रेस नेता ने कहा कि राफेल डील में मोदी सरकार ने बड़ा घोटाला किया है, इस पर बहस जरूर होनी चाहिए।

संसद परिसर में राफेल डील के खिलाफ प्रदर्शन में सोनिया गांधी के अलावा गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा और अम्बिका सोनी समेत कांग्रेस के कई सांसद शामिल हुए। बता दें कि राहुल गांधी राफेल डील को लेकर मोदी सरकार पर लगातार हमला कर रहे हैं। उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान भी यह मुद्दा उठाया था।

 

कांग्रेस ने इसी मामले में प्रधानमंत्री मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस दे रखा है। पार्टी का आरोप है कि राफेल विमानों की कीमत बताने के संदर्भ में मोदी और सीतारमण ने सदन को गुमराह किया है। पिछले दिनों राहुल के गंभीर आरोपों का रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने जवाब देते हुए कहा था कि 25 जनवरी 2008 को फ्रांस के साथ सीक्रेसी अग्रीमेंट कांग्रेस की ही सरकार ने किया था, हम तो इसे आगे बढ़ा रहे हैं।

 

उन्होंने दावा किया कि इस अग्रीमेंट में राफेल डील भी शामिल है। रक्षा मंत्री ने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार थी उस समय तत्कालीन रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी ने फ्रांस की सरकार के साथ सीक्रेसी अग्रीमेंट्स किया था। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस के अध्यक्ष जब फ्रेंच प्रेजिडेंट से मिले तो क्या बात हुई, नहीं पता।

बता दें ‘जनता का रिपोर्टर’ ने राफेल विमान सौदे को लेकर दो भागों (पढ़िए पार्टी 1 और पार्टी 2 में क्या हुआ था खुलासा) में बड़ा खुलासा किया था। जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में भुचाल आ गया। कांग्रेस राफेल डील को लेकर मोदी सरकार पर सीधे तौर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही है। खुद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘जनता का रिपोर्टर’ की खबर को शेयर कर कई बार मोदी सरकार पर हमला बोल चुके हैं।

 

Courtesy: jantakareporter.

Categories: India

Related Articles