कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में उमर ख़ालिद पर जानलेवा हमला, रवीश ने पूछा- जब हमला हुआ तब पुलिस क्या कर रही थी?

कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में उमर ख़ालिद पर जानलेवा हमला, रवीश ने पूछा- जब हमला हुआ तब पुलिस क्या कर रही थी?

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के पीएचडी छात्र उमर ख़ालिद पर दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में जानलेवा हमला हुआ है। इस हमले में उमर ख़ालिद को कई जगह चोटें आई हैं।

जानकारी के मुताबिक, उमर ख़ालिद पर हमला उस वक्त हुआ जब वह दिल्ली के कॉन्स्टीट्यूशन क्लब में आयोजित कार्यक्रम ‘ख़ौफ़ से आज़ादी’ में शिरकत करने पहुंचे थे। उमर खालिद के वहां पहुंचते ही कुछ लोगों ने उनपर हमला बोल दिया और उनकी बुरी तरह से पिटाई कर दी।

बताया जा रहा है कि इस दौरान हमलावरों ने उमर पर फायरिंग करने की भी कोशिश की, लेकिन भगदड़ में हमलावरों के हाथ से पिस्टल छूट गई और उमर की जान बच गई। इस हमले में उमर के हाथ और पैर में गंभीर चोटें आई हैं।

उमर पर हुए जानलेवा हमले पर पत्रकार रवीश कुमार ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने फेसबुक के ज़रिए कहा कि उच्च सुरक्षा क्षेत्र के बीच उमर ख़ालिद पर गोली चलाने की कोशिश की गई। अजीब है कि 15 अगस्त के आस पास कोई हथियार लेकर आ जाता है, गोली चला देता है और ग़ायब भी हो जाता है।

ग़ौरतलब है कि ‘ख़ौफ़ से आज़ादी’ कार्यक्रम का आयोजन ‘युनाइटेड अगेंस्ट हेट’ के बैनर तले देश के मौजूदा हालात के मद्देनज़र किया गया है। इस कार्यक्रम का मक़सद देश में फैलाए जा रहे डर और नफ़रत के माहौल के खिलाफ़ आवाज़ बुलंद करना है।

इस कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण, वरिष्ठ पत्रकार आरफ़ा ख़ानम शेरवानी, वरिष्ठ पत्रकार अमित सेन गुप्ता, आरजेडी सांसद मनोज झा, पूर्व राज्यसभा सांसद अली अंवर अंसारी दिल्ली यूनिलर्सिटी के प्रोफेसर अपूर्वानंद जैसी देश की कई जानी मानी हस्तियों ने शिरकत की। इसके साथ ही हेट क्राइम का शिकार हुए पीड़ित परिवारों ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

 

Categories: India

Related Articles