एशियन गेम्स 2018: बजरंग पूनिया ने भारत को दिलाया पहला गोल्ड, पूर्व PM स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित किया मेडल

एशियन गेम्स 2018: बजरंग पूनिया ने भारत को दिलाया पहला गोल्ड, पूर्व PM स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित किया मेडल

भारत के बजरंग पूनिया ने एशियाई खेलों में अपना पहला स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। 18वें एशियाई खेलों के पहले दिन पहलवान बजरंग पूनिया ने भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाया। उन्होंने फ्रीस्टाइल 65 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में जापान के पहलवान तकातानी दाईची को 11-8 से हराया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजरंग को जीत पर बधाई दी। पीएम ने ट्वीट कर कहा, बजरंग की यह जीत और भी खास है क्योंकि यह पहला स्वर्ण पदक है।

बजरंग ने अपना यह गोल्ड मेडल पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘मैं यह गोल्ड मेडल पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को समर्पित करता हूं।’ साथ ही बजरंग ने गोल्डन सफलता का श्रेय अपने मेंटॉर और ओलिंपिक मेडलिस्ट रेसलर योगेश्वर दत्त को दिया। 24 वर्षीय इस पहलवान ने कहा कि मैंने योगी भाई से किया हुआ वादा पूरा किया है।

 

दो बार के ओलंपिक पदक विजेता और भारत की सबसे बड़ी उम्मीद सुशील कुमार के शुरुआती राउंड में बाहर होने बाद बजरंग पूनिया ने निराशा को खत्म किया। बजरंग ने 65 किग्रा वर्ग के फाइनल में जापान के पहलवान तकातानी दाईची को 11-8 से शिकस्त दी। एशियाड में यह उनका पहला स्वर्ण पदक रहा।

राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदकधारी बजरंग ने एक दिन में चार मुकाबले जीते। उन्हें रविवार को पहले दौर में बाई मिली थी। उन्होंने तकनीकी रूप से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बदौलत सभी बाउट अपने नाम करते हुए 65 किग्रा वर्ग के स्वर्ण पदक राउंड में जगह बनाई।

बनाए रखा दबदबा

बजरंग ने उज्बेकिस्तान के सिरोजिद्दीन को 13-3 से हराया। फिर तजाकिस्तान के फेजिएव अब्दुलकोसिम को 12-2 और मंगोलिया के एन बाटमागनाई बाचुलु को 10-0 से रौंद फाइनल में प्रवेश किया। खिताबी मुकाबले में बजरंग ने तेज शुरुआत करते हुए पहले राउंड में फटाफट 6-0 की बढ़त ले ली। लेकिन बाद में जापानी पहलवान ने तेजी से पैंतरे बदलते हुए स्कोर 6-4 कर मुकाबला रोमांचक बना दिया।

दूसरे राउंड में कड़ा मुकाबला हुआ लेकिन अंत में बजरंग ने विपक्षी को कोई मौका नहीं देते हुए दबाव बनाए रखा और स्वर्ण पर कब्जा किया। 24 वर्षीय भारतीय ने इससे पहले लगातार तीन स्वर्ण जीते थे। उन्होंने राष्ट्रमंडल खेल, जॉर्जिया में तिबलिसी ग्रां प्री और इस्तांबुल में यासर दोगु अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में खिताब जीता है।

Categories: Sports

Related Articles