31 अगस्त को कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएंगे राहुल गांधी

31 अगस्त को कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएंगे राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने की तैयारी कर ली है. न्यूज 18 के मुताबिक राहुल गांधी 31 अगस्त से 1 सितंबर के बीच कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जा सकते हैं.

अप्रैल 2018 में एक चुनावी सभा के दौरान राहुल गांधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाने का ऐलान किया था. कांग्रेस की जन आक्रोश रैली में राहुल गांधी ने कहा था कि पिछले दिनों उनका जहाज हादसे से बच गया. इसलिए कर्नाटक चुनाव के बाद वो छुट्टी ले रहें हैं. छुट्टी लेकर वो कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएंगे.

कैलाश मानसरोवर की यात्रा को राहुल गांधी और कांग्रेस के सॉफ्ट हिंदुत्व की ओर झुकाव के तौर पर देखा जा रहा है. बताया जा रहा है कि बीजेपी के हिंदुत्व के कार्ड का ये जवाब है. गुजरात चुनाव के दौरान भी कांग्रेस की तरफ से कहा गया था कि राहुल गांधी सच्चे शिवभक्त है. एक शिवभक्त के लिए कैलाश मानसरोवर की यात्रा सबसे प्रमुख यात्रा मानी जाती है.

इस यात्रा से राहुल गाधी मीडिया की सुर्खियां भी बटोरने में कामयाब हो सकते है. राहुल गांधी के दो पहलू भी लोगों के सामने आएगा, एक तो नेता दूसरे अध्यात्मिक राहुल गांधी. कांग्रेस को इससे पार्टी की इमेज बदलने में कामयाबी मिल सकती है.

हिंदू धर्म मे कैलाश मानसरोवर की यात्रा का काफी महत्व है. कैलाश पर्वत शिव भगवान के रहने की जगह मानी जाती है. वहीं मानसरोवर के बारे मे कहा जाता है कि पहले ये ब्रह्मा के मष्तिष्क में बनी थी, बाद मे इसे धरती पर बनाया गया है. इसका पानी पवित्र माना जाता है. इसके पीने से और यहां नहाने से कहा जाता है कि सारे पाप धुल जाते हैं. इसकी यात्रा काफी कठिन है. जिसकों सनातन धर्म के अनुनायी जीवन में एकबार करने की इच्छा रखते हैं. मानसरोवर का बॉन बौद्ध और जैन धर्म में भी महत्वपूर्ण स्थान है.

Categories: India

Related Articles