सवर्णों के भारत बंद पर बोलीं मायावती, कहा- लोकसभा चुनाव से पहले देश में तनाव फैलाना चाहती है BJP

सवर्णों के भारत बंद पर बोलीं मायावती, कहा- लोकसभा चुनाव से पहले देश में तनाव फैलाना चाहती है BJP

देशभर में एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध हो रहा है। जिसकी कल छुटफुट तस्वीरें भी मीडिया घुमा घुमाकर दिखाता रहा अब ये कितना सफल हुआ इसका पता तो आने वाले वक़्त में लगेगा।

मगर बसपा सुप्रीमो मायावती का कहना है कि ये सब बीजेपी और संघ का पॉलिटिकल स्टंट है, ऐसा करके वो जातिगत राजनीति को बढ़ावा देना चाहती है।

दरअसल 6 सितम्बर को सवर्ण संगठनों द्वारा एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में भारत बंद किया गया था। मायावती ने इस मामले पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए अब बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाये है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि एससी/एसटी एक्ट में संसोधन का विरोध सिर्फ बीजेपी शासित राज्यों में ही क्यों हुआ? भारत बंद का असर सिर्फ वहीँ क्यों देखना को मिला। ऐसा इसलिए क्योंकि बीजेपी जातिगत तनाव फैलाना चाहती है।

मायावती ने कहा कि बसपा को दलितों की पार्टी बताने पर कहा कि मेरी पार्टी सिर्फ दलितों की पार्टी नहीं है बल्कि ये दलित, पिछड़ो, सवर्ण और अल्पसंख्यकों की पार्टी है।

सवर्णों पर नर्म रुख अपनाते हुए मायावती कहा कि  सवर्णों के लिए उनकी सरकार में पहली बार आर्थिक रूप से आरक्षण देने की मांग उठाई थी। मायावती ने अपने शासनकाल को याद करते हुए कहा कि मेरी सरकार में किसी के साथ अन्याय नहीं हुआ और न ही एससी-एसटी एक्ट का दुरुपयोग हुआ।

Categories: India

Related Articles