नोटबंदी की तरह फ्लॉप हुई मोदी की GST, चार महीनों में टैक्स कलेक्शन में आई 7000 करोड़ की गिरावट

नोटबंदी की तरह फ्लॉप हुई मोदी की GST, चार महीनों में टैक्स कलेक्शन में आई 7000 करोड़ की गिरावट

पिछले कुछ महीनों के मुकाबले अगस्त में जीएसटी संग्रह में कमी आई है। ये गिरकर 93,960 करोड़ रुपये हो गया, जबकि अप्रैल में 1.03 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ था। चार महीने में लगभग 7000 करोड़ रुपए की गिरावट जीएसटी संग्रह में आई है।<br><br>

मंत्रालय ने कहा है कि गिरावट का कारण 21 जुलाई को जीएसटी परिषद द्वारा सेनेटरी नैपकीन, जूते-चप्पल, फ्रिज, छोटे स्क्रीन के टीवी, वाशिंग मशीन सहित 88 वस्तुओं, उत्पादों पर कर दरों में की गई कमी है। संबंधित उत्पादों पर जीएसटी की नई दरें 27 जुलाई से प्रभावी हुई हैं।<br><br>

संसदीय समिति ने माना- नोटबंदी और GST से GDP घटी, बेरोजगारी बढ़ी, भाजपा सांसदों ने रोकी रिपोर्ट<br><br>

अगस्त में राजस्व प्राप्ति जुलाई और जून महीने के संग्रह की तुलना में कमी आई है। अप्रैल में 1.03 लाख करोड़ रुपये था, उसके बाद जून में 95,610 करोड़ रुपये और जुलाई में 96,483 करोड़ रुपए का जीएसटी संग्रह हुआ था।<br><br>

अबकी बार विज्ञापन वाली सरकार! ‘फ्लॉप’ GST के प्रचार में मोदी सरकार ने उड़ा दिए 132 करोड़ रुपए<br><br>

अनुमान है कि कर की दरों में गिरावट के बाद दाम घटने की उम्मीद में बाजार में कुछ समय के लिए उनकी बिक्री संभवत: कम हुई जिससे राजस्व वसूली पर असर हुआ होगा।

Categories: Politics, Popular News

Related Articles