पूर्व PM मनमोहन का मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश के माहौल को खराब कर ‘आजादी’ को खत्म करना चाहती है भाजपा

पूर्व PM मनमोहन का मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश के माहौल को खराब कर ‘आजादी’ को खत्म करना चाहती है भाजपा

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार को मोदी सरकार पर सभी मोर्चों पर विफल रहने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि अब देश में वैकल्पिक विमर्श पर गौर करने और अपनाने की जरूरत है।<br><br>

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल की पुस्तक ‘शेड्स ऑफ ट्रुथ’ का विमोचन करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार सभी मोर्चों पर विफल रही है।<br><br>

जब एक अर्थशास्त्री को हटाकर ‘फर्जी डिग्री’ वाले को देश सौपेंगे तो रुपया भी गिरेगा और देश का मान भी : अलका<br><br>

उन्होंने सरकार पर विदेश नीति के मोर्चे पर विफल रहने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले 4 वर्षों में पड़ोसियों के साथ हमारे संबंध खराब हुए हैं।<br><br>

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, ‘शैक्षणिक आजादी पर अंकुश लगाया जा रहा है। विश्वविद्यालयों के माहौल को खराब किया जा रहा है।’ उन्होंने कहा कि देश को वैकल्पिक विमर्श पर गौर करने और अपनाने की जरूरत है।<br><br>

मनमोहन सरकार में ‘रुपया’ ICU में चला गया था, अब प्रधानमंत्री और रुपया दोनों ‘कोमे’ में है!<br><br>

पूर्व पीएम ने कहा कि इस सरकार में किसान और नौजवान परेशान हैं तो दलितों व अल्पसंख्यकों में असुरक्षा का माहौल है। उन्होंने कहा कि कृषि संकट, बिगड़े आर्थिक हालात के साथ पड़ोसी देशों के साथ संबंधों के लिहाज से भी मोदी सरकार फेल साबित हुई है।<br><br>

मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए मनमोहन सिंह ने कहा, ‘देश में कृषि संकट है। किसान परेशान हैं और आंदोलन कर रहे हैं। युवा 2 करोड़ नौकरियों का इंतजार कर रहे हैं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि औद्योगिक उत्पादन और विकास की रफ्तार थम गई है।<br><br>

RBI के आंकड़ों ने पूर्व PM मनमोहन सिंह का कद बढ़ाया, नोटबंदी के बाद कहा था- ये सबसे बड़ा घोटाला है<br><br>

सिंह ने कहा, ‘नोटबंदी और गलत ढंग से लागू की गई जीएसटी की वजह से कारोबार पर असर पड़ा है। विदेश में कथित तौर पर जमा काले धन को लाने के लिए कुछ नहीं किया गया। दलित और अल्पसंख्यक डरे हुए हैं।’
Categories: Politics, Popular News

Related Articles