भारत बंद के बावजूद बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम: मोदी जी, अंबानी-अडानी का मुनाफा देशहित से ऊपर है क्या?

भारत बंद के बावजूद बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम: मोदी जी, अंबानी-अडानी का मुनाफा देशहित से ऊपर है क्या?

पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के विरोध में आज मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस समेत 21 दलों ने भारत-बंद का ऐलान किया है। दामों के बढ़ने के कारण पूरे देश में जगह-जगह पर विरोध प्रदर्शन किये जा रहे हैं। लेकिन मोदी सरकार ने इस विरोध और जनता की जेब की चिंता ना करते हुए आज फिर से दामों में वृद्धि कर दी है।

पेट्रोल के दाम में 23 पैसे की वृद्धि हुई है जबकि डीजल में 22 पैसे का इजाफा हुआ है। इन नए दामों के बाद दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80 रुपये 73 पैसे प्रति लीटर पहुंच गई है। जबकि मुंबई में एक लीटर पेट्रोल का दाम 88 रुपये 12 पैसे पहुंच गया है।

वहीं, डीजल के रेट में भी राहत नहीं मिली है. आज इसके दाम में 22 पैसे की बढ़ोतरी हुई है, जिसके बाद दिल्ली में एक लीटर डीजल के लिए 72 रुपये 83 पैसे खर्च करने पड़ेंगे। जबकि मुंबई की बात की जाए तो यहां एक लीटर डीजल का रेट बढ़कर 77 रुपये 32 पैसे हो गया है।

केंद्र की मोदी सरकार पर पेट्रोल-डीजल के दाम घटाने का दबाव बढ़ रहा है। हालाँकि, केंद्र सरकार का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने वो देश में दाम बढ़ा रही है।

वहीं विपक्ष का कहना है कि सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम गिरने पर पेट्रोल डीजल के दाम कम नहीं करे और एक्साइज ड्यूटी यानि टैक्स बढ़ाया। लेकिन अन्तराष्ट्रीय बाज़ार में कीमतें बढ़ने पर सरकार दाम बढ़ा रही है।

गौरतलब है की 2013 के मुकाबले मोदी सरकार 105% पेट्रोल पर और 331% डीजल के दाम बढ़ा चुकी है। सत्ता में आने के बाद मोदी सरकार 10 बार से ज़्यादा एक्साइज ड्यूटी लगा चुकी है।

Categories: India