राहुल ने कहा, कार्यकर्तां पार्टी के लिऐ खून पसीना बहाते है, लाठी खातें है, फिर बाहरी को हम टिकट कैसे दें सकते है?

राहुल ने कहा, कार्यकर्तां पार्टी के लिऐ खून पसीना बहाते है, लाठी खातें है, फिर बाहरी को हम टिकट कैसे दें सकते है?

मध्यप्रदेश के भोपाल में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (17 सितंबर) को अपनी ही पार्टी के नेताओं को चेताया कि मंत्री और मुख्यमंत्री बनने पर कार्यकर्ताओं से दूरी बनाने पर वे कार्रवाई के लिए तैयार रहें। राहुल ने कहा कि जो भी मंत्री या मुख्यमंत्री बनता है, अगर उसके दरवाजे कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए खुले नहीं रहते हैं तो वह 15 मिनट के भीतर न तो मंत्री रहेगा और न ही मुख्यमंत्री। राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा, ‘आपने अपना खून और पसीना लगाया है, यह मेरी जिम्मेदारी है कि आपको आश्वस्त करूं कि आपको सरकार से लाभ मिलेगा।’

कार्यकर्ताओं की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच राहुल ने कहा, ‘अगर नेता आपके बीच नहीं रहेगा तो वह नेता नहीं रहेगा।’ राहुल गांधी ने कहा कि अब कांग्रेस में दूसरी पार्टियों से आने वालों को चुनाव में टिकट नहीं मिलेगा। जिसने लाठी खाई, कांग्रेस की लड़ाई लड़ी, चुनाव में वही उम्मीदवार होगा।

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के सत्ता में आने पर सबसे पहली प्राथमिकता में किसान और नौजवान होंगे, दूसरे स्थान पर कार्यकर्ता और उसके बाद नेताओं का स्थान होगा।’ उन्होंने आगे कहा कि अब चुनाव में कांग्रेसी को ही प्राथमिकता मिलेगी। उन लोगों को किसी भी सूरत में उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा, जो दूसरी पार्टी से आते हैं। दूसरी पार्टियों से आने वालों का स्वागत है, मगर उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया जाएगा। राहुल गांधी ने किसानों के लिए ऋण छूट का वादा किया और कहा कि वह किसी अर्थशास्त्री की नहीं सुनेंगे।

Courtesy: drajchowk

Categories: India
Tags: Rahul Gandhi

Related Articles