DUSU के नवनिर्वाचित अध्यक्ष की डिग्री निकली फर्जी! क्या मोदी की राह चल रहे हैं अंकित बसोया?

DUSU के नवनिर्वाचित अध्यक्ष की डिग्री निकली फर्जी! क्या मोदी की राह चल रहे हैं अंकित बसोया?

DUSU के नवनिर्वाचित अध्यक्ष की डिग्री निकली फर्जी! क्या मोदी की राह चल रहे हैं अंकित बसोया?

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव 2018 के साथ एक और नया विवाद जुड़ गया है। अभी तक विवाद चुनाव में इस्तेमाल हुए EVM को लेकर था। इसके लिए कांग्रेस के छात्र संगठन NSUI के तीन उम्मीदवार दिल्ली हाईकोर्ट भी पहुंच गए हैं। NSUI ने हाईकोर्ट में DUSU चुनाव के परिणामों को चुनौती दी है।

दिल्ली हाईकोर्ट ने विश्वविद्यालय को निर्देश भी दिया है कि वह छात्र संघ चुनाव में इस्तेमाल EVM को सुरक्षित रखे। लेकिन अब इससे इतर एक नया विवाद समाने आया है। ये विवाद है DUSU के नवनिर्वाचित अध्यक्ष अंकित बसोया की मार्कशीट को लेकर।

NSUI के छात्रों का आरोप है कि अंकित बासोया की थ‌िरुवल्लुवर यूनिवर्सिटी की मार्कशीट और प्रमाण पत्र फर्जी है। अब सवाल उठता है कि NSUI को कैसे पता चला कि अंकित बासोया की मार्कशीट और प्रमाण पत्र फर्जी है?

DU President की ‘डिग्री’ निकली फर्जी! कन्हैया बोले- भाजपा का उसूल है जितना बड़ा नेता, उतनी फ़र्ज़ी डिग्री

इसके जवाब में NSUI का कहना है कि छात्रसंघ चुनाव के दौरान ही उनकी तमिलनाडु की शाखा ने थ‌िरुवल्लुवर यूनिवर्सिटी में जाकर अंकित बासोया की मार्कशीट और डिग्री के बारे में जानकारी मांगी। लेकिन विश्वविद्यालय ने जो जवाब दिया वो आश्चर्यजनक है।

NSUI के मुताबिक थ‌िरुवल्लुवर विश्वविद्यालय का कहना है कि अंकित बासोया की मार्कशीट और डिग्री फर्जी है। NSUI का दावा है कि अंकित ने गलत मार्कशीट देकर डीयू में एडमिशन ले लिया था।

फर्जी डिग्री बनाने वाले को अगर चार पैसे मिल जाते हैं तो वो ‘रोजगार’ नहीं है क्या?

NSUI के आरोप के बाद अंकित बासोया अपने वरिष्ठ नेताओं स्मृति ईरानी और पीएम नरेंद्र मोदी के समानांतर आ चुके हैं। स्मृति ईरानी और पीएम नरेंद्र मोदी पर फर्जी डिग्री के आरोप लगते रहते हैं।

सोशल मीडिया पर लोग लिख रहे हैं कि राष्ट्रीय संस्कृति का विकास इसे कहते हैं! केवल प्रधानमंत्री की डिग्री फ़र्ज़ी नहीं मानी गयी है, अब एबीवीपी से दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ के नवनिर्वाचित अध्यक्ष की डिग्री भी फ़र्ज़ी बतायी जा रही है!

बात दें कि दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव का परिणाम तमाम विवादों के बाद 13 सितंबर को घोषित हुआ था। अध्यक्ष सहित चार में से कुल तीन सीटों पर RSS की छात्र इकाई ABVP ने जीत हासिल की।

अध्यक्ष पद पर अंकित बसोया, उपाध्यक्ष पद पर शक्ति सिंह और संयुक्त सचिव के पद पर ज्योति चौधरी। वहीं NSUI को बस सचिव पद जीत मिली। अमित शाह ने इस जीत को ऐतिहासिक और राष्ट्रीय विचारधारा की जीत बतायी थी।

 

Courtesy: BOLTA UP

Categories: Crime, Politics

Related Articles