देशभक्ति का सर्टिफिकेट बांटने वाली भाजपा ने देश की सुरक्षा को उद्योगपतियों के हाथों बेच दिया: हार्दिक पटेल

देशभक्ति का सर्टिफिकेट बांटने वाली भाजपा ने देश की सुरक्षा को उद्योगपतियों के हाथों बेच दिया: हार्दिक पटेल

राफेल डील में सामने आए नए खुलासे के बाद अब भाजपा के सामने नई मुसीबत खड़ी होती नज़र आ रही है। लोकसभा चुनाव से पहले, राफेल घोटाले को लेकर BJP की पूरे देश में आलोचना हो रही है।

राफेल समझौते पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद अब भाजपा  के ‘देशभक्ति’ सवाल उठ रहे हैं और यह सवाल पाटीदार नेता हार्दिक पटेल उठा रहे है।

गुजरात के पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने ट्विटर के जरिए कहा कि, भारतीय जनता पार्टी- जो पूरे देश में देशभक्ति के सर्टिफिकेट बांटती हैं उसी ने देश की सुरक्षा को उद्योगपतियों के हाथों में बेच दिया है।

पटेल ने यह भी सवाल उठाया कि, सामाजिक न्याय और किसानों के लिए आंदोलन करने पर मुझे देशद्रोही कहने वाले, अब देश की सुरक्षा और सुरक्षा के नाम पर घोटाले कर रहे हैं तो वो देशद्रोही हुए या नहीं ?

बता दें की हाल ही में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने ‘मीडियापार्ट’ (फ़्रांस के न्यूज़ संगठन) से एक इंटरव्यू में कहा कि “‘भारत की सरकार ने जिस सर्विस ग्रुप का नाम दिया, उससे ‘डेसौल्ट’ ने बातचीत की।

भारत सरकार ने उन्हें अनिल अंबानी की रिलायंस का नाम सुझाया था और तब ‘डेसौल्ट’ ने अनिल अंबानी से संपर्क किया।उन्होंने कहा- हमारे पास कोई विकल्प नहीं था। हमें जो विकल्प दिया गया हमने स्वीकार किया।

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles