हिमाचल में तेज बारिश और बर्फबारी, ट्रैकिंग करने गए 35 आईआईटी छात्र सहित 45 लोग लापता

हिमाचल में तेज बारिश और बर्फबारी, ट्रैकिंग करने गए 35 आईआईटी छात्र सहित 45 लोग लापता

देश के कई हिस्सों में बारिश और बर्फबारी ने जीना मुहाल कर रखा है। हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति में ट्रेकिंग के लिए गए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की (आईआईटी) के 35 छात्र लापता हो गए हैं। इलाके में बारिश और भारी बर्फबारी के कारण मौसम खराब है। बताया जा रहा है कि यहां पर ट्रेकिंग के लिए आए कुल 45 लोग लापता हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एक लापता छात्र अंकित भाटी के पिता राजवीर सिंह का कहना है कि ग्रुप के लोग हम्पटा पास पर ट्रेकिंग के लिए गए थे और वहां से वे मशहूर पर्यटन स्थल मनाली लौटने वाले थे। हालांकि अब तक उनका ग्रुप के किसी सदस्य से संपर्क नहीं हो सका है।

वहीं केलांग के एसडीएम अमर सिंह नेगी का कहना है कि लाहौल-स्पीति जिले के कोकसर कैंप में 8 यात्रियों का ग्रुप सुरक्षित है। इस दल में ब्रुनेई की एक महिला और नीदरलैंड्स का एक शख्स भी शामिल है।

पांच की मौत

बता दें कि हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश और बर्फबारी हुई है। कुल्लू, कांगड़ा और चंबा जिलों में बारिश से जुड़े अलग-अलग हादसों में 5 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कई घायल हैं। कुल्लू में एक लड़की समेत 4 लोगों ने जान गंवा दी, जबकि कांगड़ा जिले में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

सोमावार को राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात हैं। वहीं कुछ जगहों पर भूस्खलन की घटनाएं भी हुई हैं। कांगड़ा, कुल्लू और हमीरपुर जिलों में मंगलवार को स्कूल बंद रखे गए हैं।

ब्यास नदी का जलस्तर खतरे के निशान के पार

ब्यास नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर चुका है। हिमाचल के वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर का कहना है कि लोगों को नदियों और नालों के करीब न जाने के निर्देश दिए गए हैं। कुल्लू में जिला प्रशासन ने हाई अलर्ट घोषित किया है। यहां शुरुआती अनुमान के मुताबिक 20 करोड़ की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है।

उत्तर भारत में मची तबाही, 11 की मौत

लगातार बारिश से उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में अचानक बाढ़ और भूस्खलन के कारण जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश एवं हरियाणा में सोमवार को कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई। पंजाब में भारी बारिश के मद्देनजर पंजाब में ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया है। भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड (बीबीएमबी) ने पंजाब के लिये परामर्श जारी करते हुए कहा कि ब्यास नदी जल क्षेत्र में लगातार बारिश से जलस्तर बढ़ जाने के कारण पोंग बांध से अतिरिक्त पानी छोड़ा जायेगा। पंजाब में मंगलवार को भी शैक्षणिक संस्थान बंद रखने के आदेश दिये गये हैं। जम्मू कश्मीर के डोडा और हिमाचल प्रदेश के अधिकतर स्थानों पर स्कूल बंद रहे। भारी बारिश के चलते भूस्खलन की घटनाएं हुईं जिनके कारण बद्रीनाथ, केदारनाथ और यमुनोत्री जाने के मार्ग बाधित हुए और चारधाम यात्रा भी प्रभावित हुई।

Categories: India

Related Articles