तीन अंकों में पेट्रोल के दाम दिखाने का इंतजाम कर रही ऑइल कंपनियां

तीन अंकों में पेट्रोल के दाम दिखाने का इंतजाम कर रही ऑइल कंपनियां

नई दिल्ली
ग्लोबल लेवल पर क्रूड की कीमतों में उछाल से पेट्रोल के 100 रुपये लीटर तक पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसे देखते हुए ऑइल कंपनियों ने पेट्रोल पंप पर लगे अपने फ्यूल डिस्पेंसर्स को अपग्रेड करना शुरू कर दिया है। ऑइल कंपनियां पक्का करना चाहती हैं कि पेट्रोल के दाम के 3 अंकों में पहुंचने के बाद भी डिस्पेंसर्स पर वह दिखे। हालांकि, उन्हें जल्द पेट्रोल की कीमत के 100 रुपये तक पहुंचने के आसार नहीं दिख रहे हैं।

अधिकतर पेट्रोल पंप पर अपग्रेडेशन की जरूरत नहीं है, लेकिन कई पुराने डिस्पेंसर्स पर दशमलव से पहले सिर्फ दो अंकों में ही कीमतें दिखती हैं। अगर पेट्रोल के दाम में 10 रुपये तक की और बढ़ोतरी हुई तो इन पुराने डिस्पेंसर्स वाले पंप को परेशानी होगी। सोमवार को मुंबई में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 90.22 रुपये और एक लीटर डीजल की कीमत 78.69 रुपये थी। दिल्ली में पेट्रोल 82.86 रुपये प्रति लीटर और 74.12 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा था। क्रूड के दाम मंगलवार को 82 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गए थे और इंडस्ट्री 2019 की शुरुआत में इसके 100 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंचने का अंदाजा लगा रही है। ऐसा हुआ तो पेट्रोल के दाम बढ़ेंगे।

डिस्पेंसर्स की क्षमता पर सवाल
पिछले दो महीनों में पेट्रोल के दाम में 6.5 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। इसे देखते हुए पेट्रोल के दाम 100 रुपये लीटर तक पहुंच जाएं तो हैरानी नहीं होनी चाहिए। वहीं, रुपये में कमजोरी से भी पेट्रोल-डीजल के दाम पर दबाव बढ़ा है। ऐसे में ऑइल कंपनियां के लिए डिस्पेंसर्स को अपग्रेड करना जरूरी हो गया है। कई पेट्रोल पंप डीलर्स ने तीन अंकों में कीमतों को दिखाने की मौजूदा डिस्पेंसर्स की क्षमता पर सवाल उठाए हैं।

सरकारी और प्राइवेट ऑइल कंपनियों के एग्जिक्यूटिव्स का मानना है कि पेट्रोल का दाम बहुत जल्द 100 रुपये लीटर नहीं होने जा रहा, इसके बावजूद वे डिस्पेंसर्स पर कोई रिस्क नहीं लेना चाहते। अधिकतर सरकारी और प्राइवेट फ्यूल रिटेलर्स के डिस्पेंसर्स में 3 अंकों की दिखाने की क्षमता है। उन्हें अपग्रेड करने की जरूरत नहीं है। ज्यादातर ऑइल कंपनियों ने कहा कि यह समस्या सिर्फ कुछ पुराने और ग्रामीण इलाकों में मौजूद पंपों में है, हालांकि उन्होंने इसका कोई आंकड़ा नहीं दिया। देश की सबसे बड़ी तेल वितरण कंपनी इंडियन ऑइल कॉरपोरेशन के एक सीनियर एग्जिक्यूटिव ने बताया कि उसके 20 पर्सेंट से भी कम पंपों पर डिस्पेंसर्स को अपग्रेड करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह काम एक से दो महीने में पूरा हो जाएगा।

Categories: Finance