खुलेआम छेड़खानी के बाद स्कूल में घुसकर लड़कियों पर हमले हो रहे हैं, नीतीश जी बिहार में बहार है या गुंडाराज ?

खुलेआम छेड़खानी के बाद स्कूल में घुसकर लड़कियों पर हमले हो रहे हैं, नीतीश जी बिहार में बहार है या गुंडाराज ?

बिहार के सुपौल में स्कूल में पढ़ने वाली छात्राओं को लगातार परेशान किया जा रहा था। जब छात्राओं ने उन लड़कों का विरोध किया तो लड़कों ने स्कूल में घुसकर लड़कियों की पिटाई कर दी, सबसे शर्मनाक बात ये रही कि इन लड़कों के साथ उनके घर की महिलाएं भी थी।

दरअसल सुपौल के त्रिवेणीगंज में डपरखा कस्तूरबा आवासीय स्कूल की दीवारों पर कुछ अराजक लड़के आपत्तिजनक बातें लिखते थे, जिसका लड़कियों ने विरोध किया। इसके बाद लड़के अपने घरवालों के साथ स्कूल में घुस गए और लड़कियों की पिटाई करने लगे। सबसे शर्मनाक है कि इनमें महिलाएं भी शामिल थी।

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्कूल में 100 लड़कियां पढ़ती है। इस मारपीट में करीब 55 लड़कियां घायल हो चुकी हैं जिनमें से 34 बच्चियों का इलाज अस्पताल में चल रहा है और इनमें 12 लड़कियों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

 

स्कूल के स्टाफ ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि बच्चियों ने बताया कि आसपास के कुछ लड़के स्कूल की दीवारों पर गंदी बातें लिखते थे।

इस मामले पर दरभंगा क्षेत्र के इंस्पेक्टर जनरल पंकज दराद ने कहा – सुरक्षा के लिहाज से स्कूल कैंपस और अस्पताल में पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है। इस मामले में 12 लोगों को खिलाफ स्कूल वार्डन ने नामजद FIR दर्ज करा दी है। जिनमें 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई है। मामले की छानबानी चल रही है और अधिकारी हॉस्टल परिसर में कैंप कर रहे हैं।’

क्या हुआ था?

स्कूल में पढ़ने वाली एक लड़की ने आरोपी मोहन को दीवार पर अपशब्द लिखने से मना किया मगर लड़का उस लड़की को ही दौड़ाकर पीटने लगा। इसके बाद लड़के के घर वालों और अन्य लोगों की एक भीड़ ने स्कूल में पढ़ने वाली छात्राओं और टीचरों पर हमला कर दिया।

इस हमले में कई लोग घायल हो गए। बाद में एंबुलेंस से छात्राओं को अस्पताल पहुंचाया गया जहां उनका अब इलाज चल रहा है।

 

Courtesy: Boltaup

Categories: Crime

Related Articles

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*