तेल के दामों में फिर हुआ इज़ाफ़ा, कांग्रेस बोली- कटौती का दिखावा कर मोदी ने जनता की आंख में धूल झोंकी

तेल के दामों में फिर हुआ इज़ाफ़ा, कांग्रेस बोली- कटौती का दिखावा कर मोदी ने जनता की आंख में धूल झोंकी

तेल की बढ़ती कीमतों से जनता को राहत मिलती नज़र नहीं रही। आज (शनिवार) एक बार फिर पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 18 पैसे का इजाफा हुआ है, जबकि डीज़ल के दाम 29 पैसे बढ़े हैं।

अब दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 82 रुपये 66 पैसे और डीजल की कीमत 75 रुपये 19 पैसे प्रति लीटर हो गई है। वहीं मुंबई की बात करें तो आज पेट्रोल 88 रुपये 12 पैसे और डीजल 78 रुपये 82 पैसे प्रति लीटर की दर से बिक रहा है।

हैरान करने वाली बात यह है कि तेल की कीमतों में बढ़ोतरी ऐसे समय में हो रही है जब अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की कीमतों में कमी देखी गई है। खास बात तो यह है कि केंद्र सरकार ने जब से तेल के टैक्स में कमी की है, तब से पेट्रोल की कीमतों में कम और डीजल की कीमतों में ज्यादा इजाफा देखने को मिल रहा है।

पिछले 9 दिनों की बात करें तो दिल्ली में डीज़ल दो रुपया 24 पैसा और पेट्रोल एक रुपया 16 पैसा महंगा हुआ है। कीमत बढ़ने की यही रफ्तार रही तो जल्द ही पेट्रोल-डीजल की कीमत दिल्ली में अपने उच्चतम स्तर को पार कर लेगा।

तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने एक तरफ़ तेल की कीमतों में मामूली कटौती कर दिखावा किया और फ़िर दूसरे रास्ते से तेल की कीमतों को बढ़ा दिया। यह जनता की आंख में धूल झोंकना है।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर लिखा, “जनता की आँखों में धूल झोंकने का मोदी सरकार का नायाब नमूना! पहले डीज़ल में ₹2.5 किये कम, फिर चोर दरवाज़े से 9वें दिन ही, बढ़ाये ₹2.24! मोदी जी, आपकी तेल की कटौती का दिखावा, निकला सिर्फ़ बहकावा! ‘ब्लॉगर बाबू’ वित्त मंत्री जी, इस चमत्कार पर कोई ब्लॉग”?

 

बता दें कि 4 अक्टूबर को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2.50 रुपये प्रति लीटर की कटौती की घोषणा की थी।

इसके साथ ही कई राज्यों ने भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2.50 रुपये की कटौती की थी। लेकिन तेल की कीमतें घटाने के एक दिन बाद ही फिर से दाम बढ़ने शुरू हो गए, जो लगातार जारी है।

Categories: India