हत्या के दो मामलों में दोषी पाए गए स्वयंभू संत रामपाल को उम्रकैद की सजा

हत्या के दो मामलों में दोषी पाए गए स्वयंभू संत रामपाल को उम्रकैद की सजा

हरियाणा के हिसार के सतलोक आश्रम में हत्या के मामले में जेल में बंद स्वयंभू संत रामपाल को हिसार की स्थानिय अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। रामपाल को अब मौत तक जेल में ही रहना होगा। कोर्ट ने रामपाल समेत 15 लोगों की उम्रकैद की सजा सुनाई है। बता दें कि इससे पहले कोर्ट ने हत्‍या के दो मामलों में संत रामपाल को 11 अक्टूबर को दोषी करार दिया था। रामपाल खुद को आध्यात्मिक गुरु बताता था।

बता दें कि नवंबर 2014 को सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल को बरवाला स्थित उसके आश्रम से बाहर निकालने के लिए पुलिस ने अभियान चलाया था। कार्रवाई के पहले दिन काफी लोग घायल हुए, लेकिन रामपाल के समर्थक डटे रहे। रामपाल के बाहर निकलने तक काफी हिंसा हुई और इस दौरान पांच महिलाओं समेत एक बच्चे की मौत हुई थी। इसके बाद आश्रम संचालक रामपाल पर हत्या के दो मामले दर्ज किए गए थे।

केस नंबर-429 (4 महिलाओं व एक बच्चे की मौत) में रामपाल सहित कुल 15 आरोपी थे। हत्या के दूसरे मामले यानी केस नंबर-430 (एक महिला की मौत) में रामपाल भी रामपाल को दोषी पाया गया है। इस मामले में रामपाल समेत 13 आरोपी थे। इस मामले में सजा का ऐलान बुधवार को होगा। रामपाल समेत छह लोग ऐसे थे जिन्हें दोनों ही मामलों में आरोपी बनाया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रामपाल पर फैसले के चलते कानून व्यवस्था रखने को लेकर हिसार और उसके आसपास रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) और अर्धसैनिक बलों के साथ ही चार हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी।

 

 

Categories: Crime

Related Articles