#MeToo पर अभिनेत्री कृति सेनन ने उठाए सवाल, बोलीं- गुमनाम कहानियां खराब कर सकती हैं करियर

#MeToo पर अभिनेत्री कृति सेनन ने उठाए सवाल, बोलीं- गुमनाम कहानियां खराब कर सकती हैं करियर

देश भर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान के तहत हर रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। महिलाओं के इस अभियान का बड़े पैमाने पर समर्थन भी मिल रहा है। इस ‘मी टू’ मुहिम में हर रोज नए-नए नाम उभरकर सामने आने का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। लेकिन इन मामलों की कितनी सच्चाई है, इस पर बॉलीवुड अभिनेत्री कृति सेनन ने सवाल उठाए हैं।

कृति सेनन ने रविवार को लोगों से यौन शोषण के खिलाफ ‘MeToo’ अभियान को जिम्मेदारी के साथ संभालने और अपनी गुमनामी के कारण अभियान को कमजोर नहीं करने का आग्रह किया। कृति का मानना है कि किसी के खिलाफ गंभीर आरोप लगाने से पहले पुरुष और महिला को अपनी पहचान उजागर करनी चाहिए।

कृति सेनन ने ट्विटर पर लिखा, “क्या होगा जब किसी के खिलाफ एक ‘गुमनाम लड़की’ की ‘मी टू’ कहानी सामने आएगी? क्या हम उस पर आसानी से विश्वास कर लेंगे और वह भी बिना जाने कि वह लड़की कौन है या वास्तव में है भी या नहीं? किसी निष्कर्ष पर कोई कैसे पहुंचेगा? क्या यह सही है कि पीड़िता के नाम के बिना ही आई मी टू कहानी के आरोपी को ‘दोषी’ मान लिया जाए? क्या मीडिया को ऐसी कहानियों को दिखाना चाहिए?”

कृति के मुताबिक, बिना पहचान की कहानी किसी का नाम और करियर दोनों खराब कर सकती है। इसलिए उन्होंने सभी से ‘मी टू’ अभियान को जिम्मेदारी के साथ संभालने और इसके लिए वैधानिक तरीका तलाशने को कहा है। 28 वर्षीय अभिनेत्री ने कहा, “वह लोग जो अपनी मी टू कहानियां साझा करना चाहते हैं, उन सभी महिलाओं और पुरुषों को अपने नामों व चेहरों के साथ खुले में आना चाहिए या फिर मुकदमा और कानूनी मामला दाखिल करना चाहिए ताकि मामले की जांच हो सके और ‘मी टू’ अभियान न कमजोर हो सके और न इसका दुरुपयोग हो सके।

कृति ने उन लड़कियों की भी सराहना की, जिन्होंने लोगों के सामने अपनी उत्पीड़न की कहानियों के बारे में बोला। उन्होंने कहा कि मी टू अभियान लोगों में कुछ भी गलत करने से पहले डर लाएगा। गौरतलब है कि कृति ने साल 2014 में फिल्म ‘हीरोपंती’ से अपनी बॉलीवुड पारी का आगाज किया था और उसके बाद वह ‘दिलवाले’, ‘राबता’ और ‘बरेली की बर्फी’ में भी नजर आ चुकी हैं।

बता दें, कृति सेनन इन दिनों फिल्म ‘हाउसफुल 4’ की शूटिंग में बिजी हैं। ‘हाउसफुल-4’ के डायरेक्टर साजिद खान और अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लग चुके हैं।

बता दें कि दस साल पहले साल 2008 में फिल्म ‘हॉर्न ओके प्लीज’ के सेट पर अपने साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना को साझा करते हुए तनुश्री ने फिल्म मेकर, अभिनेता नाना पाटेकर और कोरियोग्राफर पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद अकेली पड़ीं तनुश्री दत्ता को धीरे-धीरे बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारों का सपोर्ट मिल रहा है। इसके बाद तनुश्री ने नाना पाटेकर के खिलाफ शिकायत भी दर्ज करा दी है। तनुश्री के बाद फिल्म इंडस्ट्री से कई महिलाएं सामने आईं जिसके बाद देशभर में #MeToo मूवमेंट शुरू हो गया।

गौरतलब है कि नाना पाटेकर के बाद जहां डायरेक्टर विकास बहल, मशहूर सिंगर कैलाश खेर, अभिनेता रजत कपूर, मॉडल जुल्फी सैयद, अभिनेता आलोक नाथ, ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ (एचटी) के ब्यूरो प्रमुख और राजनीतिक संपादक प्रशांत झा सहित केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री और पूर्व वरिष्ठ पत्रकार एमजे अकबर पर भी यौन दुर्व्यवहार के आरोप लगे हैं। इसके अलावा देश मे #METOO अभियान के जोर पकड़ते ही कई नामी-गिरामी चेहरे कठघरे में खड़े हो गए हैं।

Categories: Entertainment

Related Articles