20 करोड़ घरों का डेटाबेस बनाएगी कांग्रेस, बूथ मैनेज करने के लिए एक करोड़ की वर्क फोर्स

20 करोड़ घरों का डेटाबेस बनाएगी कांग्रेस, बूथ मैनेज करने के लिए एक करोड़ की वर्क फोर्स

साल 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस एक महत्वाकांक्षी योजना बना रही है। चुनावों से पहले कांग्रेस 20 करोड़ घरों को डेटाबेस तैयार करेगी। इसके अलावा कांग्रेस पूरे देश में एक करोड़ सदस्यों को बूथ प्रबंधन के लिए नामित करने की तैयारी में हैं। बूथ, किसी भी विधानसभा क्षेत्र का सबसे छोटा हिस्सा होता है। कांग्रेस, साल 2019 से पहले अब इसी माइक्रो मैनेजमेंट पर काम करेगी।

टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक, चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने के लिए और वोटर्स का विस्तृत डेटाबेस तैयार करने के​ लिए कांग्रेस ने 2 अक्टूबर को घर-घर जाकर पैसे जमा करने का अभियान शुरू किया था। ये अभियान 19 नवंबर तक चलेगा। योजना के मुताबिक, कांग्रेस को उम्मीद है कि वह इस अवधि में 20 करोड़ घरों तक अपनी पहुंच बना पाएगी।

कांग्रेस कार्यकर्ता जब घरों में पार्टी के लिए चंदा मांगने के लिए जाएंगे, उसी दौरान कार्यकर्ता वोटर की निजी ​जानकारी भी जमा करेंगे। इस जानकारी में वोटर का नाम, फोन नंबर, वोटर आईडी और ईमेल एड्रेस शामिल होगा। वोटरों का ये डेटा अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के डेटा एनालिटिक्स विभाग में सुरक्षित रखा जाएगा। इस डेटाबैंक को कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए बनाई गई एप शक्ति के जरिए वोटरों तक पहुंच बनाने के लिए इस्तेमाल करेगी।

हालांकि अभी तक कांग्रेस शक्ति एप के जरिए विभिन्न राज्यों में फैले कांग्रेस कार्यकर्ताओं तक अपनी पहुंच बना रही थी। लेकिन चुनाव प्रचार के दौरान वोटरों को चुनकर उन तक कांग्रेस नेताओं का संदेश पहुंचाने के लिए आम वोटरों का अलग फोल्डर महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

कांग्रेस का मानना है कि बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं पर ध्यान केंद्रित करना और वोटर का डेटाबेस बनाना ही भाजपा की सफलता का राज है। हर चुनाव में भाजपा के रणनीतिकार इसी नीति पर अपना पूरा जोर लगाते हैं। अब कांग्रेस भी भाजपा की इसी नीति पर काम करना चाहती है जब 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए ज्यादा वक्त नहीं बचा है।

वोटर तक पहुंच कायम करने के लिए कांग्रेस पैसे जमा करवाने के साथ ही ‘लोक संपर्क अभियान’ भी चला रही है। इस अभियान के तहत कांग्रेस कार्यकर्ता हर घर में जाकर प्रचार सामग्री का भी वितरण करेंगे। इसके अलावा कार्यकर्ता ही लोगों को डेटा भी इकट्ठा करेंगे। कार्यकर्ताओं का खास जोर 18-21 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों तक पहुंच कायम करना होगा।

कांग्रेस की योजना है कि ब्लॉक कांग्रेस कमिटी ही बूथ कांग्रेस अध्यक्ष और बूथ कमिटी के सदस्यों का चुनाव करेगी। हर बूथ पर 10 युवा तैनात किए जाएंगे। इन सदस्यों को बूथ सहयोगी कहा जाएगा। ये सहयोगी ही घर-घर जाकर कांग्रेस का प्रचार करेंगे और 20-25 घरों में संपर्क स्थापित करेंगे।

 

Categories: India

Related Articles