वो भटकाने के लिए ‘आस्था’ की बात करेगें, आप ‘अस्थाना’ पर डटे रहना : कन्हैया कुमार

वो भटकाने के लिए ‘आस्था’ की बात करेगें, आप ‘अस्थाना’ पर डटे रहना : कन्हैया कुमार

सोमवार, 29 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर सुनवाई हुई। 3 मिनट की सुनवाई में मामले को अगले तीन महीने के लिए टाल दिया गया। अब अगली सुनवाई जनवरी में होगी। राम मंदिर

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई समेत जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के. एम जोसफ की पीठ ने कहा कि ये मामला अर्जेंट सुनवाई के तहत नहीं सुना जा सकता है।

ख़ैर, सोमवार को सुनावाई होने के एक सप्ताह पहले से ही गोदी मीडिया में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद पर दिन भर चर्चा हो रही थी। गोदी मीडिया ये राम मंदिर पर उस दौरान चर्चा कर रहा था जब सीबीआई मामाल चरम पर था।

अब सीबीआई विवाद को गोदी मीडिया ने पूरी तरह दबा दिया है, जबकी आए दिन इस मामले में नए एंगल सामने आ रहे हैं। अभी पिछले दिनों ही सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के बारे में कुछ नई जानकारी सर्वजनिक हुई।

दरअसल अस्थाना के ख़िलाफ़ सीबीआई में शिकायत की गई है कि गुजरात में पुलिस कमिश्नर रहते हुए उन्होंने पुलिस वेलफेयर फंड के पैसे बीजेपी के चुनाव फंड में ट्रांसफ़र किए।

सेवानिवृत पुलिसकर्मी ने इस संबंध में सीबीआई को तीन ई-मेल भेजे हैं। मेल में राकेश अस्थाना पर पुलिस वेलफेयर फंड के 20 करोड़ रुपए चुनावी फंड के लिए भाजपा के पक्ष में ट्रांसफर करने का आरोप लगाया गया है।

राकेश अस्थाना ने सूरत पुलिस कमिश्नर रहते ये पैसे दिए थे, जिनका 2013 से 2015 की अवधि तक फिर से भुगतान नहीं हुआ। शिकायतकर्ता का यह भी दावा है कि इनकम टैक्स विभाग ने टीडीसीएस भरने की नोटिस दी थी। लेकिन इस बारे में पूछे जाने पर अस्थाना भड़क गए थे।

मेल में बताया गया है कि पुलिस कमिश्नर दफ्तर से वेलफेयर फंड से जुड़ा रजिस्टर भी गायब है। इस बारे में एक शिकायत क्राइम ब्रांच-सूरत में दर्ज करवाई गई थी। कमिश्नर दफ्तर, उमरा पुलिस थाना क्षेत्र में आता है। बावजूद इसके शिकायत एंटी डीसीबी में करवाई गई।

इतने बड़े गोलमाल की खबर को मीडिया ने राम मंदिर और बाबरी मस्जिद की फर्जी बहस तले दबा दिया। बीजेपी की भी यही कोशिश थी। सीबीआई विवाद पर चुप्पी साधने वाले बीजेपी नेता पिछले कई दिनों से राम मंदिर पर खुलकर बोल रहे थें। ऐसे में ये समझना मुश्किल नहीं है कि बीजेपी जनता का ध्यान सीबीआई से हटाकर राम मंदिर की तरफ शिफ्ट करना चाहती थी।

बीजेपी और गोदी मीडिया की इसी साजिश पर तंज कसते हुए वामपंथी नेता कन्हैया कुमार ने ट्वीट किया है। कन्हैया ने लिखा है ‘वो भटकाने के लिए ‘आस्था’ की बात करेगें, आप ‘अस्थाना’ पर डटे रहना !!’

Courtesy: Boltaup

Categories: India

Related Articles