रामदेव ने लॉन्च किया पतंजलि परिधान, भगवा लंगोट से संस्कारी जींस तक सब उपलब्ध

रामदेव ने लॉन्च किया पतंजलि परिधान, भगवा लंगोट से संस्कारी जींस तक सब उपलब्ध

पतंजलि परिधान का उद्घाटन करते हुए रामदेव ने कहा, ‘आजकल लोग फटी जींस पहनते हैं, लेकिन हमने उसे ज्यादा नहीं फाड़ा है ताकि हमारे मूल्य और भारतीयपन बना रहे.’

नई दिल्ली: योगगुरु से ​उद्योगपति बने बाबा रामदेव ने अंतत: कपड़ों के व्यापार में भी कदम रख दिया है. अब पतंजलि परिधान स्टोर में स्वदेशी ब्रांड के कपड़े भी मिलेंगे जिसमें बांस से बने कपड़े की भगवा लंगोट से लेकर संस्कारी जींस तक शामिल है. रामदेव ने सोमवार को दिल्ली में पतंजलि परिधान स्टोर का उद्घाटन किया.

रामदेव ने सोमवार को धनतेरस के दिन दिल्ली के नेताजी सुभाष प्लेस में पतंजलि परिधान स्टोर लॉन्च किया, जहां पर भगवा रंग की लंगोट, रिप्ड (फटी हुई) जींस, टीशर्ट, महिलाओं और पुरुषों के कई तरह के परिधान उपलब्ध हैं.

बाबा के इस स्टोर में तीन तरह के ब्रांड बोर्ड हैं: लिव फिट, आस्था और संस्कार. 4000 स्क्वायर फीट में फैले इस परिधान स्टोर का उद्घाटन करने के लिए बाबा रामदेव के साथ पहलवान सुशील कुमार, फिल्मकार मधुर भंडारकर भी पहुंचे. वे दोनों पतंजलि के लिए मॉडलिंग कर रहे थे, हालांकि, वे थोड़ा थोड़ा शर्मा भी रहे थे.

 

लॉन्चिंग के समय बाबा रामदेव ने कहा, ‘आजकल लोग फटी जींस पहनते हैं. इसलिए हमारी भी कुछ जींस फटी हुई हैं. लेकिन हमने उन्हें ज्यादा नहीं फाड़ा है ताकि हमारे मूल्य और हमारा भारतीयपन बना रहे.’

रामदेव ने दावा किया कि इन जींस की डिजाइन भारतीयों को भारतीय बनाती है, खास तौर से यह ‘महिलाओं के लिए अति आरामदायक है’. पतंजलि स्टोर में बांस के बने स्पोर्ट वियर भी होंगे.

पतंजलि की व्यापार विशेषता को कायम रखते हुए पतंजलि के कपड़ा उत्पादों का का भी दावा है कि वे भारतीय संस्कृति को कायम रखेंगे. इसी क्रम में कंपनी ने महिलाओं के कपड़ों के लिए महिला मॉडल से दूरी बनाने का फैसला किया है. स्टोर के बाहर चमकते बोर्ड पर भी मुस्कुराते हुए बाबा रामदेव और पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की तस्वीर है.

बाबा रामदेव ऐसे बिजनेसमैन हैं जिन्होंने ‘स्वदेशी व्हाट्सएप’ ‘स्वदेशी समृद्धि सिम कार्ड’ से लेकर पतंजलि ​नूडल्स और आरोग्य बिस्कुट आदि लॉन्च किए और यह सब उन्होंने खुद के चेहरे के दम पर बेचना शुरू किया और व्यापार में भी स्वदेशी और भारतीयता का तड़का लगाया है.

उनका पतंजलि आयुर्वेद भी इसी श्रेणी का उत्पाद है. पतंजलि आयुर्वेद बिजनेस आजकल करीब 1.6 अरब का है. हाल ही में इसने मीडिया में अपने विज्ञापनों की संख्या घटा दी, जिसके कारण यह चर्चा में आया था.

पहलवान सुशील कुमार ने जींस और टीशर्ट पहनी थी और मधुर भंडारकर ने कोट पहनी थी. उन्हें दिखाते हुए रामदेव ने मीडिया से कहा, जो कपड़े बाजार में 20,000 के मिलते हैं, उसे हम मात्र 1100 में देंगे.

बाबा रामदेव ने दावा​ किया कि भारतीय संस्कार और स्वदेसी का गौरव पतंजलि की पहचान है. हम अपनी संस्कृति और परंपरा का सम्मान करते हैं.

उन्होंने बताया कि मार्च तक पतंजलि परिधान के 100 स्टोर खोल जाएंगे. उनका दावा ​है कि उनके उत्पाद वैश्विक स्तर की कंपनियों के उत्पाद से मुकाबला करेंगे.

 

Categories: Finance