छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: 31 EVM और 51 वीवीपैट मशीनों में आई खराबी, शिकायत के बाद बदला गया

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: 31 EVM और 51 वीवीपैट मशीनों में आई खराबी, शिकायत के बाद बदला गया

भारी चाकचौबंद सुरक्षा के बीच छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान 18 निर्वाचन क्षेत्रों में सोमवार (12 नवंबर) सुबह से जारी है। राज्य में पहले चरण का मतदान आठ निर्वाचन क्षेत्रों में सुबह आठ बजे से शुरू हुआ और बाकी के दस निर्वाचन क्षेत्रों में यह सुबह सात बजे से चल रहा है। राज्य के धुर नक्सल प्रभावित बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र के मतदाता 190 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे।

 

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के 31,79,520 मतदाता मुख्यमंत्री रमन सिंह, उनके मंत्रिमंडल के दो सदस्यों, बीजेपी सांसद और कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेताओं समेत 190 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला कर करेंगे। जिन 18 सीटों पर मतदान हो रहा है उनमें से 12 सीट बस्तर क्षेत्र में तथा छह सीट राजनांदगांव जिले में है। पहले चरण में 18 सीटों में से 12 सीट अनुसूचित जनजाति के लिए तथा एक सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है।

वहीं, समाचार एजेंसी IANS के मुताबिक छत्तीसगढ़ मतदान के दौरान चुनाव आयोग को 31 ईवीएम और 51 वीवीपैट मशीनों में खराबी की शिकायत मिली हैं, जिसके बाद आयोग ने इन मशीनों को बदल दिया है। राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी सुब्रत साहु ने कहा, “जहां-जहां ईवीएम मशीन की खराबी की बात सामने आई थी वहां हमने उन मशीनों को बदल दिया है। कुछ जगहों पर केबलिंग की दिक्कत थी। केबल हिलने से कुछ देर के लिए समस्या हुई, जिसको ठीक करने पर सभी ईवीएम मशीनें चालू हो गई हैं।”

उन्होंने कहा, “अब कहीं दिक्कत नहीं है और वर्तमान में सभी जगह वोटिंग चालू है। किसी प्रकार की तकनीकी खराबी नहीं है। सारी मशीनें अपडेट हैं। बैकअप के साथ भी टीमें तैयार हैं।” वहीं, भानुप्रतापुर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी मनोज मण्डावी ने निर्वाचन आयोग से इस खराबी के कारण मतदान का समय बढ़ाने की मांग की है।

 

समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक अधिकारियों ने बताया कि नक्सल प्रभावित मोहला-मानपुर, अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोण्डागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोण्टा में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ तथा दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। वहीं विधानसभा क्षेत्र खैरागढ़, डोंगरगढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव, खुज्जी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकोट में सुबह आठ बजे मतदान प्रारंभ हुआ और शाम पांच बजे तक मतदान होगा।

मतदाताओं ने दिखा उत्साह

जिन विधानसभा क्षेत्रों में आज मतदान हो रहा है वहां सुबह से ही मतदाताओं की कतार लग गई थी और वे अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। मतदान प्रारंभ होने के बाद उन्होंने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सुबह मतदान करने के लिए महिला मतदाता भी बड़ी संख्या में मतदान केंद्रों पर पहुंच गई थी। वहीं, युवा मतदाताओं में उत्साह देखा गया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि राज्य की जिन 18 सीटों के लिए आज मतदान हो रहा है उसमें से 12 बस्तर क्षेत्र की और छह सीटें राजनांदगांव जिले की हैं।

इन 18 विधानसभा सीट के लिए कुल 190 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनकी किस्मत का फैसला यहां के 31,80,014 मतदाता करेंगे। इनमें से पुरुष मतदाताओं की संख्या 15,57,435 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 16,22,492 है। वहीं 87 मतदाता तृतीय लिंग के हैं। अधिकारियों ने बताया कि प्रथम चरण में कुल मतदान केंद्रों की संख्या 4336 है। उन्होंने बताया कि राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान होने के कारण सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं तथा सुरक्षा बल के लगभग सवा लाख जवानों को तैनात किया गया है।

छत्तीसगढ़ में अभी तक बीजेपी और कांग्रेस के मध्य मुकाबला होता आया है। लेकिन इस बार पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) और मायावती की बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) गठबंधन भी चुनाव मैदान में है।गठबंधन के कारण कई सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है। राज्य में 20 नवंबर को शेष 72 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। वहीं वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी।

छत्तीसगढ़ में भाजपा पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है और इस बार उसने 90 में से 65 सीटें जीतकर चौथी बार सरकार बनाने का लक्ष्य रखा है। वहीं, कांग्रेस को भरोसा है इस बार उसे जीत मिलेगी और 15 वर्ष से चला आ रहा उसका वनवास समाप्त होगा।

 

Courtesy:

Categories: India

Related Articles