मुजफ्फरनगर यूपी : नाबालिग दलित लड़की से छेड़खानी पर सामुदायिक संघर्ष, दलितों पर जमकर पथराव

मुजफ्फरनगर यूपी : नाबालिग दलित लड़की से छेड़खानी पर सामुदायिक संघर्ष, दलितों पर जमकर पथराव

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक दलित लड़की के साथ युवक द्वारा छेड़खानी करने पर दो गुटों की आपस में भिड़त हो गई। जिसमें दलित समाज के लोगों पर दूसरे समुदाय के लोगों ने जमकर पत्थरबाजी की, जिसके कारण एक युवक घायल हो गया। इस घटना की सूचना जब पुलिस को मिली तब मौके पर पुलिस पहुँच गई और हालात को अपने काबू में ले लिया। इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि बाकी 6 लोगो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। गांव में पुलिस बल तैनात कर दी गई है।

 

कोतवाली क्षेत्र के गांव अटेरना में दलित व्यक्ति की नाबालिग बेटी सोमवार को लगभग शाम को साढ़े सात बजे खेत में काम करके अपने घर लौट रही थी। इसी दौरान गांव के बाहर दूसरे समुदाय के एक नाबालिग ने लड़की के साथ छेड़खानी करी। आरोप है की दूसरे समुदाय के युवक ने दलित नाबालिग लड़की को खेत में खीचनें की कोशिश की।

गांववालों के पहुँचने पर छेड़खानी का आरोपी युवक मौके से भाग निकला। घटना की जानकारी लेने के बाद दलित समाज के कई लोग आरोपी के परिजनों को समझाने के लिए उसके घर की ओर रवाना हुए। दलित समाज के लोगों को आरोपी के घर आता देख दूसरे समुदाय के लोगों ने दलित समाज के लोगो पर पथराव करना शुरू कर दिया।

इस पत्थरबाजी में सनी उर्फ़ अमित (उम्र 25) पुत्र उधम घायल हो गया। पथराव के कारण गांव में अफरातफरी मच गई। जब इंस्पेक्टर प्रभाकर कैंतुरा, क्राइम इंस्पेक्टर जयभगवान सिंह को घटना की सूचना मिली तो तुरंत ही दोनों मौके पर पहुँच गए। पुलिस बल को देखकर आरोपी मौके से फरार हो गए। इस घटना की खबर मिलते ही सीओ हरिराम यादव भी मौके पर पहुँच गए।

दो समुदाय के बीच विवाद होने के कारण रतनपुरी और फुगाना पुलिस मौके पर पहुँच गई। पुलिस ने छेड़खानी के आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया। इंस्पेक्टर प्रभाकर कैंतुरा ने बताया की अब गावं में पूरी तरह से शांति का माहौल है। छेड़खानी के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। दलित समाज के लोगों ने छेड़खानी और पथराव के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कोतवाली में देर रात तक रुके रहें।

पुलिस ने बताया की भारतीय दंड सहिता की विभिन्न धाराओं, पाक्सो अधिनियम और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि बाकी 6 आरोपियों को पकड़ने के लिए तलाश अभियान शुरू कर दिया गया है। गांव में कड़ी सुरक्षा कर दी जा चुकी है और अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात भी कर दिया गया है।

उत्तर प्रदेश में आय दिन कोई न कोई घटना सामने आती रहती है। अभी हाल ही में यूपी के प्रयागराज में दो नाबालिगों पर बम फैंककर हत्या कर दी गई थी, और कुछ दिन पहले दलित लड़की के साथ छेड़छाड़ की घटना सामने आई थी। पिछले करीब 4 से 5 दिनों में दलित लड़की के साथ छेड़खानी का ये दूसरा मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश में लगातार होती इस तरह की घटनाओं से प्रशासन की लचर व्यवस्था का पता चलता है।

 

Courtesy: nationaldastak

Categories: Crime

Related Articles