कठुआ गैंगरेप-हत्या मामला: पीड़ित परिवार ने चर्चित वकील दीपिका सिंह राजावत को केस से हटाया, जानिए क्यों

कठुआ गैंगरेप-हत्या मामला: पीड़ित परिवार ने चर्चित वकील दीपिका सिंह राजावत को केस से हटाया, जानिए क्यों

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में 8 साल की नाबालिग मासूम बच्ची के साथ हुए गैंगरेप और हत्याकांड मामले की चर्चित वकील दीपिका सिंह राजावत को पीड़िता की परिवार ने केस से हटा दिया है। बच्ची के पिता ने पठानकोट कोर्ट में वकील दीपिका सिंह को केस से हटाने का आवेदन दिया था, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बताया जा रहा है कि दीपिका के पास कोर्ट में सुनवाई के दौरान पेश होने का समय नहीं था। वह पिछले कई महीनों में केवल दो बार दिखाई दी है।

आपको बता दें कि राजावत ने पीड़िता के परिवार की तरफ से केस लड़ने के लिए पहल की थी, जिसके बाद वह देखते ही देखते एक नेशनल सेलिब्रिटी बन गई थीं। परिवार का कहना है कि वह राजावत को उनकी ओर से जान के खतरे का हवाला देने, केस में कम दिलचस्पी लेने और कोर्ट में न आने के चलते हटा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता के परिजन दीपिका की आत्ममुग्धता से काफी आहत थे। इसलिए उन्होंने केस से हटाने का फैसला लिया है।

पीड़िता के परिवार के एक सूत्र ने अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘वह (दीपिका) केस पर ध्यान नहीं दे रही थीं, बल्कि खुद को न्याय के लिए धर्मयोद्धा साबित करने में जुटी थीं। जब इस केस की वैधताओं के बारे पूछा गया तो वह बिल्कुल अनजान थीं। वह केस के लिए मुश्किल से ही कोर्ट रूम में आती थीं और दावा करती हैं कि उनके जीवन को खतरा है।’

बता दें कि इसी साल जनवरी में जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में एक 8 साल की मासूम बच्ची के साथ रेप करके उसकी हत्या कर दी गई थी। बच्ची के साथ हुए गैंगरेप और हत्या के केस ने पूरे देश को हिला कर रख दिया था। आरोपियों पर आरोप है कि उन्होंने आठ साल की मासूम को एक सप्ताह तक कठुआ जिले के एक गांव के मंदिर में बंधक बनाकर रखा और उसे नशीला पदार्थ देकर उसके साथ बार-बार बलात्कार किया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई थी।

आरोपियों में एक नाबालिग भी शामिल है जिसके खिलाफ एक पृथक आरोपपत्र दायर किया गया है। अपराध शाखा द्वारा दायर आरोपपत्रों के अनुसार, बकरवाल समुदाय की लड़की का अपहरण, बलात्कार और हत्या एक सुनियोजित साजिश का हिस्सा थी ताकि इस अल्पसंख्यक घुमंतू समुदाय को इलाके से हटाया जा सके। इसमें कठुआ के एक छोटे गांव के एक मंदिर के रखरखाव करने वाले को इस अपराध का मुख्य साजिशकर्ता बताया गया है।

Courtesy: jantakareporter

Categories: Crime

Related Articles