लोकसभा में 282 से 270 पर आई भाजपा, अब लद्दाख से BJP सांसद छवांग ने पार्टी से दिया इस्तीफ़ा

लोकसभा में 282 से 270 पर आई भाजपा, अब लद्दाख से BJP सांसद छवांग ने पार्टी से दिया इस्तीफ़ा

बीजेपी नेताओं का पार्टी छोड़कर जाने का सिलसिला जारी है। अब जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं लद्दाख से लोकसभा सांसद थुपस्तान छवांग ने पार्टी और लोकसभा दोनों से इस्तीफा दे दिया है।

बीजेपी की जम्मू-कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रवींद्र रैना ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। रैना ने बताया कि आध्यात्मिक जीवन गुजारने के लिए और स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों की वजह से छवांग (71) ने इस्तीफा दिया है।

रैना ने कहा कि छवांग ने निजी वजह से इस्तीफा दिया है। उन्होंने कहा, लद्दाख के सांसद ने बुधवार को अपने पत्र में कहा कि वह स्वास्थ्य कारणों के चलते पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं।

उन्होंने सांसद के तौर पर भी इस्तीफा दे दिया है। लेकिन उनका इस्तीफा मंजूर हुआ है या नहीं, इस बारे में मैं अभी कुछ नहीं कह सकता।

रैना ने कहा कि सांसद पिछले एक साल से जोर दे रहे थे कि वह राजनीति छोड़ना चाहते हैं और आध्यात्मिक जीवन गुजारना चाहते हैं। पार्टी के प्रदेश प्रमुख ने कहा कि उन्हें स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें भी थीं।

थुप्सतान छवांग दो बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए हैं। छवांग 1972 में पहली बार रियासत की सियासत में सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री सईद मीर कासिम के लद्दाख दौरे पर विरोध-प्रदर्शनों का आयोजन किया था। उन्हें उस समय 20 दिनों तक जेल में रखा गया था।

उन्होंने लद्दाखियों को अनुसूचित जनजाति का दर्जा दिलाने और लद्दाख प्रांत को केंद्र शासित राज्य का दर्जा दिलाने के आंदोलन भी चलाए। वह 1988 से 1995 तक लद्दाख बौद्ध संघ के अध्यक्ष भी रहे।

वह लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद लेह के पहले चीफ एग्जीक्यूटिव कौंसलर भी रहे। इसके बाद वर्ष 2000 में उन्होंने लद्दाख टेरीटेरी फ्रंट का गठन किया।

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles