कांग्रेस का मोदी पर पलटवार- दलित अध्यक्ष के निधन पर ‘आडवाणी’ के सिवा कोई BJP नेता नहीं गया

कांग्रेस का मोदी पर पलटवार- दलित अध्यक्ष के निधन पर ‘आडवाणी’ के सिवा कोई BJP नेता नहीं गया

देश में चुनावी माहौल अब बनने लगा है। इसमें जातियों का तड़का लगाया जा रहा है खुद प्रधानमंत्री मोदी ने मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में भाषण देते हुए कहा कि देश को पता है कि सीताराम केसरी, दलित, पीडि़त और शोषित समाज से आए हुए व्यक्ति को पार्टी अध्यक्ष पद से कैसे हटाया गया? कैसे बाथरूम में बंद कर दिया गया था? इसके बाद मैडम सोनिया जी को बैठा दिया गया था।

अब इस मामले पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए उन्हें अपने दलित अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण याद दिलाई है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने सोशल मीडिया पर लिखा-

क्या ये सही है कि जब भारतीय जनता पार्टी के पहले और एकलौते दलित अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण का निधन हुआ तो उनके अंतिम संस्कार में लालकृष्ण आडवाणी के अलावा कोई और पार्टी का बड़ा नेता मौजूद नहीं था।

गौरतलब हो कि बंगारू लक्ष्मण साल 2000 से 2001 तक बीजेपी के अध्यक्ष रह चुके है। उन्होंने बतौर रेल राज्यमंत्री में अपनी सेवा दी थी।

लक्ष्मण का निधन 74 साल की उम्र में लंबी बीमारी के चलते साल 1 मार्च 2014 को हुआ। उन्होंने अंतिम साँस अब (तेलंगाना) के सिकंदराबाद स्थित यशोदा अस्पताल में ली थी।

अब कांग्रेस के इस आरोप पर बीजेपी या प्रधानमंत्री का क्या कहते है ये दिलचस्प होगा।

क्योंकि अगर ऐसा बात साल 2014 की है तो देश में उस वक़्त लोकसभा चुनाव चल रहें थे और ऐसा मुमकिन नहीं की पीएम मोदी इस बारे में जानकारी न होगी अब ऐसे में पीएम मोदी खुद क्या जवाब देते ये देखना बाकी है।

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles