Breaking: एन चुनाव के मौके पर बीजेपी के मंत्री की गाडी से पकड़े गए दस लाख रुपये

Breaking: एन चुनाव के मौके पर बीजेपी के मंत्री की गाडी से पकड़े गए दस लाख रुपये

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश कल होने जा रहे 230 विधानसभाओ के लिए मतदान से कुछ घंटे पहले शिवराज सरकार के मंत्री देवराज सिंह परिहार की गाड़ी से दस लाख रुपये की बरामदगी की गयी है।

कांग्रेस का आरोप है कि देवराज सिंह परिहार पैसा देकर चुनाव प्रभावित करना चाहते थे और वोट के बदले नोट बांटने जा रहे थे। परिहार सांवेर से बीजेपी विधायक राजेश सोनकर का चुनाव देख रहे हैं। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी धन बल के आधार पर चुनाव को प्रभावित करना चाहती है।

शिवराज सरकार के मंत्री देवराज परिहार की जिस गाड़ी से दस लाख रुपये बरामद किये गए हैं उस गाड़ी का नंबर MP09 BA 6711 है। गाड़ी से दस लाख रुपये बरामद होने के बाद पुलिस ने परिहार से मामूली पूछताछ कर उन्हें छोड़ दिया।

इसके बाद नाराज़ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रोड जाम कर परिहार की गिरफ्तारी और इस मामले में चुनाव आयोग से तुरंत कदम उठाये जाने की मांग की है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर आरोप लगाया कि उन्होंने परिहार के रसूकदार होने के चलते उन्हें सुरक्षित निकाल दिया और गिरफ्तारी नहीं की। गौरतलब है कि देवराज सिंह परिहार लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के प्रतिनिधि भी हैं।

उन्होंने बताया कि चुनावी आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन पर दोनों आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 188 (किसी सरकारी अधिकारी के आदेश की अवज्ञा) और अन्य संबद्ध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

एसडीओपी ने मीडिया को बताया कि चक्का जाम के जरिए यातायात बाधित करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 141 (विधिविरुद्ध जमाव) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

एसडीओपी मानसिंह परमार ने बताया कि पुलिस दल मौके पर जांच कर ही रहा था कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने परिहार की गाड़ी को घेर लिया और विरोध प्रदर्शन और चक्का जाम शुरू कर दिया। इससे सड़क पर दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लग गईं। एसडीओपी ने दावा किया कि भीड़ के हंगामे का फायदा उठाते हुए परिहार और उनका ड्राइवर मौके से गायब हो गए।

Courtesy: lokbharat

Categories: India
Tags: BJP

Related Articles