एनजीटी द्वारा दिल्ली सरकार पर लगाए गए जुर्माने को लेकर सीएम केजरीवाल पर भड़के गौतम गंभीर

एनजीटी द्वारा दिल्ली सरकार पर लगाए गए जुर्माने को लेकर सीएम केजरीवाल पर भड़के गौतम गंभीर

पिछले कुछ दिनों से देश का राजधानी दिल्ली और एनसीआर मे प्रदूषण का स्तर लगातार खराब हो रहा है, जैसे-जैसे सर्दी बढ़ रही है हालात और बिगड़ते जा रहे हैं। वहीं, दिल्ली में प्रदूषण पर लगाम लगाने में नाकाम रहने पर राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने दिल्ली सरकार पर 25 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है।

इसी बीच, इस जुर्माने को लेकर पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी (AAP) पर निशाना साधा है।

गौतम गंभीर ने दिल्ली में प्रदूषण की समस्या पर दिल्ली सरकार और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया कि छँटा धुआँ, निकला मफलर में लिपटा फ्रॉड! अरविंद केजरीवाल, बीजेपी कौन इस जुर्माने को भरेगा? बेशक करदाता। मेरी इच्छा है कि मेरे पास ये विकल्प होता कि मैं ये कह सकूं कि मेरा टैक्स का पैसा दिल्ली के मुख्यमंत्री की मनमानी के लिए नहीं है। वायु प्रदूषण: एनजीटी ने दिल्ली सरकार पर 25 करोड़ रुपए का फाइन लगाया।

बता दें कि राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने सोमवार को दिल्ली सरकार को वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाने पर 25 करोड़ रुपए सीपीसीबी (सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड) में जमा करने को कहा है। यह हर्जाने की राशि दिल्‍ली सरकार के खजाने से नहीं, बल्‍कि जिम्मेदार सरकारी अधिकारियों के वेतन से वसूला जाएगा।

बता दें कि यह कोई पहली बार नही है कि गौतम गंभीर ने सीएम अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी (AAP) पर निशाना साधा हो। इससे पहले भी वह दिल्ली में वायु प्रदूषण के हालात को लेकर अरविंद केजरीवाल और दिल्ली सरकार की अलोचना कर चुके है।

पिछले दिनों गौतम गंभीर ने शायराना अंदाज में दिल्ली सरकार पर हमला करते हुए ट्वीट कर लिखा था कि “दर्दे दिल, दर्दे जिगर दिल्ली में जगाया AAP ने, पहले तो यहाँ Oxygen था, Oxygen भगाया AAP ने।” इसके आगे गंभीर ने अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी (आप) को टैग करते हुए लिखा था कि, ‘हमारी पीढ़ियां आपके झूठे वादों के कारण धुएं में जी रही हैं। आपके पास डेंगू और प्रदूषण को रोकने के लिए एक साल का वक्त था, दुख की बात है कि आपने दोनों में से किसी को नियंत्रित नहीं किया। जाग जाइए।’

Categories: India

Related Articles