बुलंदशहर हिंसाः पुलिस ने आरोपियों के पोस्टर चिपकाए, जब्त होगी संपत्ति

बुलंदशहर हिंसाः पुलिस ने आरोपियों के पोस्टर चिपकाए, जब्त होगी संपत्ति

बुलंदशहर हिंसाः पुलिस ने आरोपियों के पोस्टर चिपकाए, जब्त होगी संपत्ति

 

अपने पोस्टर में पुलिस ने महानिरीक्षक (मेरठ), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक (बुलन्दशहर), क्षेत्राधिकारी स्यान, प्रभारी निरीक्षक स्यान (बुलन्दशहर) का मोबाइल फोन नंबर भी लिखा है. इन नंबरों पर कोई भी व्यक्ति आरोपियों के संबंध में पुलिस को सूचना दे सकता है.

Bulandshahr Violence case District Police releases pictures of 18 accused

लखनऊः उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या और गौकशी के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस हर तरीके का हथकंडा अपनाने में जुट गई है लेकिन अभी तक सफलता हाथ नहीं लगी है. पुलिस फोटो चस्पा कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लोगों से सहयोग की गुहार लगा रही है. बुलंदशहर पुलिस ने 18 आरोपियों के नाम, पता और फोटो के साथ शहर में पोस्टर चिपकाए हैं. साथ ही अपील की है कि जो भी व्यक्ति इन लोगों की सूचना देगा उसके नाम का खुलासा नहीं किया जाएगा. इस पोस्टर में अन्य पांच आरोपियों के फोटो तो नहीं हैं लेकिन नाम और पता लिखा हुआ है. पोस्टर के मुताबिक सभी आरोपियों की संपत्ति भी जब्त की जाएगी.

अपने पोस्टर में पुलिस ने महानिरीक्षक (मेरठ), वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक (बुलन्दशहर), क्षेत्राधिकारी स्यान, प्रभारी निरीक्षक स्यान (बुलन्दशहर) का मोबाइल फोन नंबर भी लिखा है. इन नंबरों पर कोई भी व्यक्ति आरोपियों के संबंध में पुलिस को सूचना दे सकता है.

 

 

बता दें कि हाल ही में बुलंदशहर में कथित तौर पर गोवंशी जानवरों के अवशेष मिलने के बाद उपद्रव शुरू हो गई थी. उपद्रव को नियंत्रण में करने पहुंची पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मार दी गई. गोली इंस्पेक्टर सुबोध के सिर में लगी थी जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी.

 

गोली चलाने का आरोप जीतेंद्र फौजी पर है. जीतेंद्र सेना में काम करता है. मामला सामने आने के बाद यूपी एसटीएफ जीतेंद्र को गिरफ्तार करने जम्मू कश्मीर गई थी जिसके बाद सेना ने उसे एसटीएफ के हवाले कर दिया. मामले को लेकर एसटीएफ लगातार जीतेंद्र से पूछताछ कर रही है.

जीतेंद्र को लेकर सेना ने बयान जारी कर कहा था कि जांच में पूरा सहयोग किया जाएगा. जीतेंद्र फौजी 22 राष्ट्रीय राइफल्स का हिस्सा है और जम्मू-कश्मीर के सोपोर में तैनात था. वह 15 दिन की छुट्टी लेकर अपने गांव आया हुआ था.

 

Courtesy: ABP News

Categories: Crime

Related Articles