‘अच्छे दिन’ नहीं लाने वाले अब विपक्ष में बैठने से डर रहे हैं, वो चोर होकर भी अपने आपको पवित्र बोल रहे हैं : शिवसेना

‘अच्छे दिन’ नहीं लाने वाले अब विपक्ष में बैठने से डर रहे हैं, वो चोर होकर भी अपने आपको पवित्र बोल रहे हैं : शिवसेना

शिवसेना के बीजेपी पर हमले ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहें है। वो हर माध्यम से बीजेपी को कोसते हुए नज़र आ रही है।

इस बार शिवसेना के मुखपत्र सामना में एक बार फिर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। जिसमें सीधे सीधे कहा गया है कि जो लोग सत्ता में रहने के बावजूद ‘अच्छे दिन’ लाने में नाकाम रहे, उन्हें अब विपक्ष में बैठने का डर है।

दरअसल शिवसेना का लेख तब प्रकाशित हुआ जब पीएम मोदी ने इशारों इशारों में शिवसेना का बिना नाम लिए उनपर निशाना साधा था।

पीएम मोदी पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी का उदाहरण देते हुए कहा कि कुछ लोगों के लिए सत्ता ऑक्सीजन की तरह है जो उनसे कुछ साल के लिए भी दूर हो जाए तो वे बैचेन हो जाते हैं।

अख़बार ने इस बयान पर जवाब देते हुए कहा कि मोदीजी ने कहा कि वाजपेयी ने अपना ज्यादातर जीवन विपक्ष में बैठकर बिताया लेकिन कभी विचलित नहीं हुए, जबकि मोदीजी के अनुसार कुछ लोग उनके ठीक विपरीत हैं। अब सवाल उठता है कि ये कौन लोग हैं?

कांग्रेस के बाद अब शिवसेना ने राफेल को बताया घोटाला! उद्धव बोले- ‘देश का चौकीदार ही चोर बन गया है’
लेख में कहा गया कि जो लोग (भाजपा) ‘अच्छे दिन’ लाने में नाकाम रहे उन्हें अब विपक्ष में बैठने के ख्याल से भी हीन भावना महसूस होती है और सत्ता को ऑक्सीजन मिलती रहे इसलिए चोरों को ‘पवित्र’ किया जा रहा है।

शिवसेना ने कहा कि कंप्यूटरों और मोबाइल फोनों की जासूसी करने का सरकार का कदम सच्चे लोकतंत्र का संकेत नहीं है, बल्कि उसकी सत्ता में रहने की ‘बेताबी’ दर्शाता है। इससे पहले भी शिवसेना ने राफेल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि लोग कहने लगे है चौकीदार चोर है।

द्धव ठाकरे ने किसान का एक किस्सा सुनाते हुए कहा था कि राज्य के एक दौरे के दौरान एक किसान ने कीट संक्रमित नींबू का पौधा दिखाया। यह पौधा कीटनाशक बनाने के लिए उपयोग किया जाता है लेकिन यह खुद ही कीट के हमले के गिरफ्त में आ गया था।

किसान ने मुझसे कहा कि जीवन में पहली बार उसने नींबू के पौधे को संक्रमित होते देखा है जबकि इसके पौधे कीटनाशक बनाने के लिए तैयार किये जाते रहे हैं। मैंने उससे कहा कि अब दिन बदल गये हैं। चौकीदार ही चोर बन गये हैं।

Categories: India

Related Articles